नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। मतगणना से पहले एक्जिट पोल के आंकड़ों से दिल्ली के सियासी गलियारे में हलचल तेज हो गई है। अधिकांश एजेंसियों के एग्जिट पोल में बताया गया है कि भाजपा दिल्ली की सातों सीटों पर अपना कब्जा बरकरार रखने में कामयाब होगी। इसके विपरीत कई एजेंसियों ने एक से दो सीटों के नुकसान की बात भी कही गई है। इससे भाजपा में खलबली मच गई है। नेता व कार्यकर्ता सभी सीटों पर मतों व समीकरण को लेकर जोड़-घटाव करने में लग गए हैं हालांकि, बड़े नेता सभी सीटें जीतने का दावा कर रहे हैं।

दिल्ली में उत्तर-पूर्वी दिल्ली, उत्तर-पश्चिमी दिल्ली, नई दिल्ली और चांदनी चौक संसदीय सीट पर भाजपा को कड़ी चुनौती मिल रही है। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी का प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व तीन बार की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित और आम आदमी पार्टी (AAP) के पूर्व प्रदेश संयोजक दिलीप पांडे से मुकाबला है। पूर्व मुख्यमंत्री की वजह से इस सीट पर मुकाबला बेहद करीबी हो गया है। इस संसदीय क्षेत्र में मुस्लिम आबादी लगभग 23 फीसद है और इनमें से अधिकांश कांग्रेस के पक्ष में बताए जा रहे हैं।

शीला दीक्षित भी दावा कर रही हैं कि दिल्ली में परिणाम चौकाने वाले होंगे और लोगों का अच्छा समर्थन उन्हें मिला है। दूसरी ओर मनोज तिवारी का कहना है कि विपक्ष के लिए कोई जगह नहीं है और भाजपा दिल्ली की सभी सीटें जीतेगी।

उत्तर-पश्चिमी सीट पर भाजपा ने मौजूदा सांसद डॉ. उदित राज का टिकट काटकर सूफी गायक हंसराज हंस को मैदान में उतारा है। टिकट कटने से नाराज उदित राज कांग्रेस में शामिल हो गए। वहीं, मतदान के एक दिन पहले कांग्रेस सरकार में मंत्री रहे राजकुमार चौहान ने भाजपा का दामन थाम लिया।

दूसरी ओर  AAP उम्मीदवार गुग्गन पिछले लगभग एक वर्ष से क्षेत्र में सक्रिय हैं। इस वजह से यहां मुकाबला त्रिकोणीय है। कांग्रेस ने यहां से प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष राजेश लिलोठिया को मैदान में उतारा है। नई दिल्ली सीट पर भी मौजूदा सांसद व भाजपा प्रत्याशी मीनाक्षी लेखी को पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस प्रत्याशी अजय माकन से कड़ी टक्कर मिल रही है।

चांदनी चौक सीट पर भी भाजपा प्रत्याशी व केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का कांग्रेस प्रत्याशी जय प्रकाश अग्रवाल के साथ कड़ा मुकाबला है। यहां भी मुस्लिमों का समर्थन कांग्रेस को मिलने की बात कही जा रही है। भाजपा के कई नेताओं को लगता है इन सीटों में से किसी एक पर भाजपा को झटका लग सकता है। कई नेता व कार्यकर्ता दक्षिणी दिल्ली सीट पर भी रोचक मुकाबला मान रहे हैं। यहां से मौजूदा सांसद व भाजपा प्रत्याशी रमेश बिधूड़ी का मुकाबला AAP के राघव चड्ढा व कांग्रेस प्रत्याशी बॉक्सर विजेंदर सिंह से है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरों को पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप