नई दिल्ली [संजीव कुमार मिश्र]। दिल्ली विश्वविद्यालय व कालेजों में 13 सितंबर से छात्रों को प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। कार्यवाहक कुलपति प्रो. पीसी जोशी ने बताया कि बृहस्पतिवार को सभी कॉलेजों के प्राचार्य और विभागों के विभागाध्यक्ष संग बैठक हुई। जिसमें तय हुआ कि 13 सितंबर से छात्रों के लिए कालेज खोले जाएं। पहले पहल अंतिम वर्ष के विज्ञान संकाय के छात्रों को प्रवेश की इजाजत होगी। छात्र लाइब्रेरी और प्रयोगशाला का प्रयोग कर सकेंगे। यह पूरी तरह छात्रों की इच्छा पर निर्भर करेगा कि वो कालेज आना चाहते हैं या नहीं।

त्योहारों तक आनलाइन ही चलेगी कक्षाएं

कक्षाएं पूर्व की भांति आनलाइन ही चलेंगी। बकौल कार्यवाहक कुलपति बड़ी संख्या में डीयू के छात्र विभिन्न राज्यों में रहते हैं। हम नहीं चाहते कि कालेजों में अचानक भीड़ बढ़ जाए। इसलिए त्योहारों तक आनलाइन ही कक्षाएं चलेगी। यदि कोरोना की संभावित तीसरी लहर नहीं आती है और सभी छात्र तब तक टीका लगवा लेते हैं तो आफलाइन कक्षाएं चलाई जाएंगी। इस बाबत एक दो दिन में विस्तृत दिशानिर्देश जारी किए जाएंगे।

इग्नू में 15 सितंबर तक करें दाखिले के लिए पंजीकरण

वहीं, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (इग्नू) ने अपने विभिन्न स्नातक, स्नातकोत्तर, डिप्लोमा और प्रमाण पत्र पाठ्यक्रमों में जुलाई सत्र में दाखिला लेने के लिए पंजीकरण की अंतिम तिथि 15 सितंबर तक बढ़ा दी है। इससे पहले इसकी अंतिम तिथि 31 अगस्त को समाप्त हो गई थी। इसके साथ ही दूसरे वर्ष व सेमेस्टर में दाखिला लेने के लिए भी छात्र पुन: पंजीकरण कर सकते हैं। पंजीकरण के लिए छात्रों को समर्थ पोर्टल पर जाकर दिए गए लिंक पर क्लिक करना होगा।

आइआइटी दिल्ली में 10 मिनट में कराएं कोरोना जांच

इधर, आइआइटी दिल्ली में रैपिड एंटिजेन टेस्ट केंद्र शुरू किया गया है। केंद्र पर रैपिड एंटिजेन टेस्ट किट के जरिये कोरोना की जांच की जाएगी। यह किट आइआइटी दिल्ली के विज्ञानी प्रो. हरपाल सिंह ने विकसित की है। इस किट की मदद से पांच से 10 मिनट के अंदर कोरोना की जांच संभव होगी। यह दूसरी बार केंद्र शुरू किया गया है। कोरोना की पहली लहर के बाद भी आइआइटी ने कोरोना जांच केंद्र शुरू किया था। आइआइटी ने बताया कि कोई भी व्यक्ति इस सुविधा का लाभ उठा सकता है। यह टेस्ट किट 98 फीसद से अधिक सही परिणाम देती है। दो दिनों में अब तक पांच सौ से अधिक लोग जांच करा चुके हैं।

Edited By: Prateek Kumar