नई दिल्ली [रणविजय सिंह]। इलेक्ट्रिकल फीडर बस (electrical feeder buses) खरीदने के लिए दिल्ली मेट्रो रेल निगम (Delhi Metro Rail Corporation) ने योजना में बदलाव किया है। डीएमआरसी अब केंद्र सरकार के फेम (फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलेक्ट्रिकल व्हिकल) इंडिया-2 योजना की मदद से राजधानी दिल्ली में लास्ट माइल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए एसी इलेक्ट्रिकल फीडर बसें सड़कों पर उतारेगा। इसके लिए डीएमआरसी ने नए सिरे से 100 एसी इलेक्ट्रिकल फीडर बसें खरीदने की प्रक्रिया शुरू की है। इस महीने के अंत तक टेंडर प्रक्रिया भी पूरी हो जाएगी। उम्मीद है कि जल्द ही ये इलेक्ट्रिकल मेट्रो फीडर बसें सड़कों पर रफ्तार भरती नजर आएंगी।

दिल्ली-एनसीआर (National Capital Region) में मेट्रो का नेटवर्क बढ़कर 377 किलोमीटर पहुंच गया है, जबकि मौजूदा समय में 174 मेट्रो फीडर बसें विभिन्न रूटों पर चल रही हैं। मेट्रो के यात्रियों को गंतव्य तक सुविधाजनक सार्वजनिक परिवहन की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए डीएमआरसी ने फीडर बसों के बेड़े में 427 एसी इलेक्ट्रिकल बसें शामिल करने की योजना बनाई है। इसके लिए डीएमआरसी ने टेंडर भी जारी किया था। साथ ही दिल्ली सरकार से करीब 200 करोड़ रुपये की मांग की थी, ताकि इलेक्ट्रिकल फीडर बसों के परिचालन में होने वाले घाटे की भरपाई हो सके। यह रकम नहीं मिलने के कारण डीएमआरसी अब तक फीडर बसों की खरीद नहीं कर पाया है।

डीएमआरसी का कहना है कि पुराने टेंडर को रद कर 100 फीडर बसों के लिए नया टेंडर जारी किया गया है। इसके लिए भारी उद्योग मंत्रलय के फेम इंडिया-2 योजना से सब्सिडी मिलेगी। इसलिए इन फीडर बसों की खरीद में कोई अड़चन नहीं है। 50 बसें पूर्वी कलस्टर क्षेत्र में और 50 बसें उत्तरी कलस्टर क्षेत्र में चलेंगी। इन बसों में 23 से 34 यात्रियों के बैठने की सुविधा होगी, जबकि पहले इलेक्ट्रिकल फीडर बसों में 16-22 सीटों का ही प्रावधान था। इन बसों के परिचालन व रखरखाव की जिम्मेदारी दस वर्ष तक बसें उपलब्ध कराने वाली निजी कंपनी के हाथ में होगा।

क्या है फेम इंडिया-2 योजना

भारी उद्योग मंत्रालय ने प्रदूषण कम करने के उद्देश्य से इलेक्ट्रिकल वाहनों को बढ़ावा देने के लिए यह योजना शुरू की है। इसके तहत बड़े शहरों में परिचालन के खर्च पर इलेक्ट्रिकल बसें उपलब्ध कराने के लिए राज्यों से प्रस्ताव मांगा गया था। इसके बाद 64 शहरों में 5095 इलेक्ट्रिकल बसें खरीदने की मंजूरी दी गई है। राजधानी में लास्ट माइल कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए डीएमआरसी को 100 फीडर बसें खरीदने की मंजूरी मिली है।

यहां पर बता दें कि वर्तमान में दिल्ली मेट्रो के विभिन्न रूट्स पर 30 लाख से अधिक लोग यात्रा करते हैं। स्टेशन पर उतरने के बाद यात्रियों को घर तक पहुंचने में परेशानी होती है। ऑटो और बस में धक्के खाने पड़ते हैं। अब डीएमआरसी की यह योजना लोगों का सफर आसान बनाने के साथ उन्हें घर के बेहद करीब तक पहुंचाएगी।

UP-Delhi और चेन्नई के लोगों का सफर सस्ता बनाने आ रही है 'Metro Lite', पढ़ें- खूबियां

Ghaziabad: हत्या के बाद 6ft गहरे गड्ढ़े में गाड़ा लॉ स्टूडेंट का शव, 4 दिन बाद हुआ सनसनीखेज खुलासा

Delhi assembly Election 2020: AAP-भाजपा के खिलाफ सोनिया गांधी चल सकती हैं ये बड़ा दांव

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप