नई दिल्ली [रणविजय]। Delhi Metro News: कोरोना के कारण परिचालन बंद होने से आर्थिक संकट में फंसी दिल्ली मेट्रो के कर्मचारियों के वेतन भत्ते में इस माह से कटौती शुरू होगी। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) ने मंगलवार को यह आदेश जारी किया है। इस आदेश के मुताबिक कर्मचारियों को मिलने वाले पर्क व विभिन्न भत्तों में 50 फीसद की कटौती की जाएगी। इससे कर्मचारियों को बड़ा आर्थिक नुकसान उठाना पड़ेगा।

बंद है राजस्व

दरअसल, डीएमआरसी अपने कर्मचारियों को मूल वेतन, महंगाई भत्ता के अलावा कई तरह के भत्ते का भुगतान करता रहा है। यह मूल वेतन का 31.50 फीसद है। मूल वेतन में तो कटौती नहीं हो सकती है। इसलिए डीएमआरसी ने इन भत्तों में कटौती की है। मेट्रो के मुनाफे के अनुसार डीएमआरसी कर्मचारियों को यह भुगतान करता है। मेट्रो का परिचालन बंद होने से डीएमआरसी को राजस्व नहीं मिल रहा है। इसलिए मेट्रो की कमाई बिल्कुल बंद है। इस वजह से डीएमआरसी ने आदेश जारी कर कहा है कि कर्मचारियों को मूल वेतन का 15.75 फीसद ही पर्क व भत्ते दिए जाएंगे। इसके अलावा कर्मचारियों को किसी तरह की अग्रिम राशि की भुगतान नहीं की जाएगी। जिन कर्मचारियों को पहले अग्रिम राशि की भुगतान के लिए स्वीकृति मिल चुकी है सिर्फ उन्हीं को इसका लाभ मिलेगा। डीएमआरसी ने कहा है कि अलगे आदेश तक यही व्यवस्था लागू रहेगी।

22 मार्च से बंद है सेवा   

उल्लेखनीय है कि 22 मार्च से मेट्रो का परिचालन बंद है। इस कारण पिछले करीब पांच माह में दिल्ली मेट्रो को करीब 1500 करोड़ का नुकसान हो चुका है। डीएमआरसी ने जापान की एजेंसी से मेट्रो परियोजनाओं के लिए 35,198 करोड़ रुपये का भारी भरकम लोन लिया है। जिसे मेट्रो को 30 साल में चुकाना है। डीएमआरसी ने अब तक 3337 करोड़ लोन चुकाया हैं। जिसके बाद 31,861 करोड का लोन बकाया है। इस वित्त वर्ष में डीएमआरसी को 1,242.83 करोड़ का लोन भरना है लेकिन अब तक सिर्फ 79.19 करोड़ ही चुका पाया है। शेष 1163.64 करोड़ लोन इस वित्त वर्ष का बकाया है। डीएमआरसी लोन भुगतान के लिए केंद्र सरकार से गुहार लगाई थी। जिसके बाद केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय ने दिल्ली सरकार से मदद मांगने की सलाह दी थी। बताया जा रहा है कि डीएमआरसी ने दिल्ली सरकार को फाइल भेजकर लोन चुकाने में मदद करने की मांग की है।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस