नई दिल्ली, पीटीआइ। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त राष्ट्रीय कार्यबल की रिपोर्ट को लेकर राजनीतिक घमासान जारी है। आम आदमी पार्टी और भाजपा के बीच जारी आरोप-प्रत्यारोप के बीच ऑक्सीजन पैनल की रिपोर्ट पर एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने शनिवार को अहम बयान दिया है। उन्होंने समाचार एजेंसी पीटीआइ से बातचीत में कहा है कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित उपसमिति की फाइनल रिपोर्ट अभी नहीं आई है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो रिपोर्ट में कहा गया है कि दिल्ली को बेड क्षमता के आधार पर 289 टन ऑक्सीजन की जरूरत थी, लेकिन दिल्ली सरकार ने 1,140 टन ऑक्सीजन की खपत का दावा किया था। इस लिहाज से जरूरत से चार करीब गुना अधिक थी।

इस पर डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने शनिवार को यह भी कहा कि दिल्ली ऑक्सीजन ऑडिट रिपोर्ट फिलहाल एक अंतरिम रिपोर्ट है। ऐसे में उन्हें नहीं लगता है कि हम ऐसा कह सकते हैं कि दिल्ली में ऑक्सीजन की मांग को 4 गुना बढ़ा चढ़ाकर बताया गया। इसके साथ बी रणदीप गुलेरिया ने इस पूरे मामले पर यह भी कहा कि फिलहाल यह मामला सुप्रीम कोर्ट में है। ऐसे में हमें प्रतीक्षा करनी होगी। इसके साथ ही हमें यह भी देखना होगा कि शीर्ष अदालत इस बारे में क्या कहती है।

ऐसे शुरू हुआ विवाद

दरअसल, शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आम आदमी पार्टी सरकार ने दिल्ली में ऑक्सीजन जरूरत को 4 गुना बढ़ाकर बताया था। इसकी वजह से दिल्ली को ज्यादा ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई और इससे 12 राज्य प्रभावित हुए। इस पर भाजपा के साथ कांग्रेस भी हमलावर हुई। 

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रिपोर्ट को सिरे से किया खारिज

उधर, मीडिया में इस रिपोर्ट के सामने आते ही भाजपा के आरोपों पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पत्रकार वार्ता कर सिलसिलेवार ढंग से जवाब दिया था।  उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि भाजपा के तमाम बड़े नेताओं द्वारा एक तथाकथित फर्जी रिपोर्ट के सहारे सीएम अर¨वद केजरीवाल को घेर रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट की ऑक्सीजन आडिट उपसमिति की रिपोर्ट बता रही है, ऐसी कोई रिपोर्ट न तो समिति द्वारा स्वीकृत की गई है और न ही जारी की गई है। ऐसे में केंद्र और भाजपा के नेता जबाव दें और बताएं कि यह रिपोर्ट कहां से और कैसे अस्तित्व में आई?

वहीं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी केंद्र सरकार को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया ‘मेरा गुनाह यह है कि मैं अपने दो करोड़ लोगों की सांसों के लिए लड़ा।’  जब आप चुनावी रैली कर रहे थे तब मैं रातभर जगकर आक्सीजन का इंतजाम कर रहा था। लोगों को आक्सीजन दिलाने के लिए मैं लड़ा, गिड़गिड़ाया। लोगों ने आक्सीजन की कमी से अपनों को खोया है। उन्हें झूठा मत कहिए, उन्हें बहुत बुरा लग रहा है।’

Edited By: Jp Yadav