नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। दिल्ली मास्टर प्लान- 2041 तैयार करने के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) लोगों से सुझाव ले रहा है। सोमवार को सुनवाई बोर्ड की 14वीं बैठक हुई जिसमें नेशनल हाकर्स फेडरेशन के सदस्यों ने दिल्ली मुख्य योजना-2041 के मसौदे को लेकर अपने सुझाव दिए।

सुझाव देने का अवसर  

फेडरेशन के सदस्यों को मौखिक रूप से अपनी आपत्ति व सुझाव देने का अवसर दिया गया। सदस्यों ने रेहड़ी पटरी लगाकर आजीविका कमाने वालों की परेशानी को ध्यान में रखने की मांग की। उन्हें नागरिक सुविधाएं उपलब्ध कराने, उनके लिए विशेष वेंडिंग जोन बनाकर स्थान आवंटित करने का प्रविधान करने की मांग की गई जिससे कि रेहड़ी पटरी वाले सम्मानजनक तरीके से बिना किसी परेशानी के काम कर सकें। मास्टर प्लान में स्ट्रीट वेंडिंग अधिनियम के प्रविधानों को शामिल करने की भी मांग की गई। टाउन वेंडिंग कमेटी की सिफारिश सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई।

जीवन के स्तर को सुधारने पर दिया जाना चाहिए ध्यान

डीडीए मास्टर प्लान के मसौदे पर सुझाव लेने के लिए विभिन्न सरकारी एजेंसियों, संस्थाओं, पेशेवर निकायों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित कर रहा है। लोग योजना की संरचना के मुद्दों, पिछली योजना के परिणाम, विकास प्रभार, फ्लोर एरिया रेशियो (एफएआर) में बढ़ोतरी, पार्किंग मानक, सामाजिक एवं भौतिक अवसंरचना से संबंधित मुद्दें, प्रदूषण, लैंड पूलिंग योजना, यातायात सुविधा, विरासत क्षेत्रों और पुरानी दिल्ली को लेकर अपने सुझाव दे रहे हैं। उनका कहना है कि मास्टर प्लान में दिल्ली के विकास के साथ ही लोगों के जीवन स्तर सुधारने पर ध्यान दिया जाना चाहिए।

Edited By: Prateek Kumar