नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। राजधानी के चिडि़याघर में लगातार वन्य जीवों की प्रजातियां बढ़ती जा रही हैं। अब दिल्ली के चिडि़याघर में 15 स्टार कछुए, दो जंगली कुत्ते व एक नर लकड़बग्घा लाए गए हैं। ये भी जानवर विशाखापट्टनम चिडि़याघर से जानवर की अदलर-बदली के तहत लाए गए हैं। इसे भी कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए क्वारंटाइन किया गया है।

चिडि़याघर की निदेशक डाक्टर सोनाली घोष ने बताया कि चिडि़याघर में लगातार वन्य जीवों की संख्या बढ़ाई जा रही हैं। दिल्ली चिडि़याघर में 100 से अधिक वन्य जीवों की प्रजाति का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए देश के अलग-अलग चिडि़याघरों से संपर्क साधा जा रहा है। इस दौरान दिल्ली चिडि़याघर से विशाखापट्टनम को दो नील गाय, गोरल और चार बंगाल लोमड़ी भेजी गई हैं।

विशाखापट्टनम चिडि़याघर से इन दिनों 15 स्टार कछुए और दो जंगली कुत्ते लाए गए हैं, जिन्हें अब क्वारंटाइन कर दिया गया है। ऐसे में अब जानवरों की प्रजातियां 94 हो गई हैं। इनमें स्तनधारी, पक्षी और सांप प्रजाति के वन्य जीव शामिल हैं। निदेशक ने बताया कि सभी वन्य जीवों का सर्दी में विशेष खयाल रखा जा रहा है। इस दौरान उनके बाड़ों में हीटर लगाए गए हैं। साथ ही जानवरों को बचाने के लिए उनके बाड़े में बोरियां व पाली भी लगाई जा रही हैं, जिससे जमीन पर उन्हें सर्दी न लगे। अधिकारियों ने बताया कि जैसेे ही सर्दी बढ़ी है तो वन्य जीवों की सुरक्षा के इंतजाम में भी बढ़ा दिए गए हैं। इसके साथ ही प्रदूषण से बचाव के लिए वन्य जीवों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है।   

Edited By: Pradeep Chauhan