नई दिल्ली [राहुल चौहान]। राजधानी दिल्ली में लगातार बढ़ती कोरोना के नए मामलों की संख्या से स्थिति चिंताजनक होती जा रही है। संक्रमण के तेजी से बढ़ने के पीछे वायु प्रदूषण को भी बड़ी वजह माना जा रहा है। इसी के चलते बुधवार को रिकॉर्डतोड़ 5673 नए मामले सामने आए। इससे मंगलवार के अब तक के सर्वाधिक 4853 नए मामलों का रिकॉर्ड टूट गया। वहीं संक्रमण दर भी बढ़कर 9.37 फीसद हो गई। जबकि 4128 मरीज ठीक हुए। साथ ही 40 मरीज़ों की मौत भी हो गई। इससे दिल्ली में एक बार फिर स्थिति गंभीर होती दिख रही है।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में कोरोना के अब तक कुल तीन लाख 70 हजार 014 मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें से तीन लाख 34 हजार 240 मरीज ठीक हो चुके हैं। इससे मरीजों के ठीक होने की दर 90.33 हो गई है, जो मंगलवार से कम है। मरीजों के ठीक होने की अपेक्षा नए मामलों की संख्या में ज्यादा बढ़ोतरी से मरीजों के ठीक होने की दर में भी गिरावट आ रही है। वहीं मृतकों की कुल संख्या बढ़कर 6396 हो गई है। वहीं रिकॉर्डतोड़ नए मामले सामने आने से पिछले 24 घंटे में 1505 सक्रिय मरीज बढ़ने से सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर कुल 29378 हो गई। मंगलवार को सक्रिय मरीजों की संख्या 27, 873 थी।

मौजूदा समय में 5665 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं। वहीं कोविड केयर सेंटर में 894 व कोविड हेल्थ सेंटर में 324 मरीज भर्ती हैं। इसके अलावा 16,822 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करा रहे हैं।

24 घंटे में 60, 571 सैंपल की जांच

दिल्ली में अब तक कुल 45 लाख 16 हजार 600 सैंपल की जांच हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 60, 571 सैंपल की जांच हुई। जिसमें से 9.37 फीसद सैंपल पॉजिटिव पाए गए।

बुधवार को बने 15 नए कंटेनमेंट जोन

कोरोना का संक्रमण बढ़ने के कारण दिल्ली में कंटेनमेंट जोन की संख्या भी बढ़ती जा रही है। एक दिन पहले तक 3032 कंटेनमेंट जोन थे, जो बुधवार को 15 नए कंटेनमेंट जोन बनने से बढ़कर 3047 हो गए हैं।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस