नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। हरियाणा के हथनी कुंड बैराज से यमुना में अब पानी कम छूट रहा है। इसलिए यमुना का जल स्तर घट कर खतरे के निशान से नीचे आ गया है। इस वजह से बृहस्पतिवार शाम करीब पौने पांच बजे लोहे वाले पुल को वाहनों के लिए खोल दिया गया। इससे दो दिन बाद इस पुल से वाहनों का आवागमन दोबारा शुरू हो गया। हालांकि, यमुना में पानी अब भी चेतावनी के स्तर (204.50 मीटर) से ऊपर बह रहा है। सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग के कंट्रोल रूम के अनुसार शुक्रवार शाम तक यमुना का जल स्तर चेतावनी के स्तर से नीचे आ जाएगा।

उल्लेखनीय है कि हथनी कुंड बैराज से भारी मात्रा में पानी छोड़े जाने के कारण 26 सितंबर की रात करीब नौ बजे यमुना का जल स्तर खतरे के निशान (205.33 मीटर) से ऊपर पहुंच गया था। इसके बाद जल स्तर बढ़कर 206.59 मीटर तक पहुंच गया।

इस वजह से 27 सितंबर को लोहे वाले पुल से वाहनों व ट्रेनों का परिचालन बंद कर दिया गया था। इसके बाद जल स्तर घटना शुरू हुआ। इससे बुधवार शाम को ही लोहे वाले पुल से ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया गया था लेकिन वाहनों का आवागमन बंद रखा गया था।

बृहस्पतिवार शाम को यमुना का जल स्तर घटकर 205.24 मीटर हो गया है, जो खतरे के निशान से नीचे है। इसलिए लोहे वाले पुल से वाहनों का भी आवागमन शुरू कर दिया गया। अभी हथनी कुंड बैराज से यमुना में हर घंटे 20 हजार क्यूसेक से कम पानी छोड़ा जा रहा है। लिहाजा, अब जल स्तर बढ़ने की संभावना नहीं है।

यमुना प्राधिकरण ने एटीएस व सुपरटेक बिल्डर के खिलाफ जारी किया 332.58 करोड़ का नोटिस

Delhi LG का भ्रष्टाचार के आरोप पर जवाब, खुद उठाते हैं खाने का खर्च, पत्नी भी नहीं करतीं सरकारी कार का इस्तेमाल

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट