नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए दिल्ली सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उस सलाह पर काम करेगी, जिसमें उन्होंने तीन-टी (ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट) पर काम करने की सलाह दी है। इस पर और अधिक फोकस बढ़ाने के लिए दिल्ली सरकार रणनीति बना रही है। प्रधानमंत्री की अपील के बाद दिल्ली में इस पर काम शुरू कर दिया गया है। इसे और कैसे बेहतर किया जा सके, इस पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

दिल्ली की बात करें तो यहां पर कोरोना का संक्रमण पहले से भी तेजी से फैल रहा है। इसकी गंभीरता को देखते हुए तीन दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली सरकार से खासतौर पर बात की थी। इसमें उन्होंने तीन-टी के फार्मूला पर काम करने की सलाह दी थी। उनकी सलाह के बाद दिल्ली में टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर ध्यान बढ़ा दिया गया है। पहले जहां प्रति कोरोना मरीज 20 व्यक्तियों की ट्रेसिंग की जाती थी, अब उसे बढ़ाकर 31 कर दिया गया है। यानी एक व्यक्ति संक्रमित मिलने पर उसके संपर्क में आए 31 लोगों की जांच की जाएगी।

इसके साथ ही दिल्ली में अब प्रतिदिन एक लाख लोगों की जांच की जा रही है। इसके अलावा कोरोना मरीजों को अस्पतालों में बगैर देरी किए भर्ती किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। पश्चिमी जिला को छोड़कर सभी जिलों में 30 या इस संख्या से अधिक लोगों की ट्रे¨सग की जा रही है। वहीं पूर्वी जिला में ट्रेसिंग 36 तक है।

राजधानी के जिलों में प्रति व्यक्ति कांटेक्ट ट्रेसिंग

जिला      संख्या व्यक्ति

मध्य         30

पूर्वी            36

नई दिल्ली      30

उत्तरी         31

उत्तर-पूर्वी   34

उत्तर-पश्चिमी 32

शाहदरा        31

दक्षिणी       30

दक्षिण पूर्वी 30

दक्षिण-पश्चिमी 30

पश्चिमी 29

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप