नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Violence : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा के दौरान इंटेलीजेंस ब्यूरो (आइबी)के सिपाही अंकित शर्मा की हत्या के आरोपित आम आदमी पार्टी के निलंबित निगम पार्षद ताहिर हुसैन की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। दिल्ली पुलिस ने ताहिर के खिलाफ हत्या के प्रयास, दंगा करने व आपराधिक साजिश रचने की धाराओं में चार मुकदमा दर्ज किया है। इनमें दयालपुर में दो और खजूरीखास मे दो मामले दर्ज किए गए हैं। साथ ही उसे दबोचने के लिए दिल्ली के विभिन्न इलाके में छापेमारी कर रही है।

पुलिस को ताहिर के दो मोबाइल रखने की जानकारी मिली है। कॉल डिटेल से पता चला है कि 24 फरवरी की रात 12 बजे तक वह अपने चांदबाग वाले घर में ही मौजूद था। उस दिन दंगे के दौरान दिनभर में उसने करीब 150 कॉल की थी। हत्या का मुकदमा दर्ज होने पर ताहिर जब भूमिगत हुआ तो उसकी अंतिम लोकेशन ओखला में थी। ऐसे में पुलिस को शक है कि वह जामिया, ओखला व आसपास के इलाके में छिपा हो सकता है। ताहिर विदेश न भाग जाए इसके लिए पुलिस जल्द लुकआउट नोटिस जारी करने की तैयारी कर रही है। हुसैन के पासपोर्ट के बारे में पता लगाया जा रहा है।

चार मामले हुए दर्ज

ताहिर के खिलाफ सबसे पहले दयालपुर थाने में सिपाही अंकित शर्मा की हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया। अंकित के पिता की शिकायत पर केस दर्ज किया गया। दूसरी एफआइआर इसी थाने में अजय गोस्वामी ने दर्ज कराई। शिकायत में गोस्वामी ने कहा है कि 25 फरवरी को वह अपने चाचा राकेश शर्मा के घर आए थे। अपराह्न् 3.50 बजे वापस अपने घर खजूरी जा रहे थे। मेन करावल नगर रोड पर भीड़ जमा थी। वहां पत्थर व गोलियां चल रही थीं। यह देखकर जब वह चाचा के घर की तरफ भागे तो उनके दाहिने कूल्हे पर किसी ने गोली मार दी। लोगों ने बताया कि गली नंबर 5 और 6 के बीच गुलफाम और तनवीर अंधाधुंध गोलियां चला रहे थे। इन्हीं में से किसी की गोली लगी। ताहिर हुसैन के मकान से भी काफी लोग गोलियां चला रहे थे। पेट्रोल बम फेंक रहे थे, पत्थर फेंक रहे थे। अजय की शिकायत पर दयालपुर थाना पुलिस ने ताहिर समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

खजूरीखास थाने में तीसरी एफआइआर सिपाही संग्राम सिंह ने दर्ज कराई। वह खजुरीखास में तैनात हैं। शिकायत में उन्होंने कहा कि 24 फरवरी को दंगे के दौरान उनकी व विक्रम की ड्यूटी चांदबाग पुलिया व खजूरी खास में लगी थी। तभी शेरपुर चौक की तरफ जाने वाले रास्ते व आसपास की गलियों में काफी भीड़ इकट्ठा होने लगी। उपद्रवी आगजनी और पथराव कर सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने लगे। समझाने पर उपद्रवियों ने उन पर भी पथराव शुरू कर दिया जिससे जान बचाकर वह एक पार्किंग में घुस गए। दंगाइयों ने उनकी बाइक जला दी। इसके अलावा इसी थाने में एक और मामला ताहिर के खिलाफ दर्ज हुआ है।

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021