नई दिल्ली [निहाल सिंह]। सिनेमा घर खुलने की अनुमति मिलने के बाद शुक्रवार से सिनेमाघरों में पर्दा उठ गया। 50 फीसद क्षमता के साथ खुले सिनेमाघरों को अभी दर्शकों की रौनक का इंतजार है। पहले दिन मार्टल काम्बेट से सिनेमाघरों की शुरुआत हुई। इसके साथ ही मुबंई सागा गाडजिला वर्सेस कांग भी दिखाई गई। अनलाक के बाद चूंकि सिनेमाघरों के लिए पहला दिन था इसलिए दर्शकों की संख्या काफी कम थी। वहीं, दर्शक कम होने के बाद भी एक सीट छोड़कर दर्शकों को बैठने की अनुमति थी। वहीं, सिनेमाघर में प्रवेश से पहले लोगों के लिए मास्क अनिवार्य था वहीं, हाथों को सैनिटाइज भी किया जा रहा था।

पहले दिन कम रही दर्शकों की संख्या

भले ही शुक्रवार को दर्शकों की संख्या कम रही लेकिन सिनेमाघर संचालक आने वाले अगस्त माह को बहुत ही अच्छा मान रहे हैं। उनका मानना है कि अगले माह यह व्यापार जोर पकड़ेगा। इसके साथ की कई बालीवुड की फिल्में भी पर्दे पर आएगी। इससे दर्शकों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है।

कर्मियों के टीकाकरण पर जोर

पीवीआर द्वारा सिनेमाघर खुलने पर चेयरमैन अजय बिजली ने कहा कि दूसरी लहर के बाद सिनेमाघर खुलने के बाद हमारा फोकस अपने कर्मियों का सौ फीसद टीकाकरण कराना था। हमारे कर्मी अब मास्क और टीकाकरण का सुरक्षा चक्र लेकर ग्राहकों को अपनी सेवाएं देंगे।

पिछले साल मार्च से लाॅकडाउन में सिनेमाघर थे बंद

उल्लेखनीय है कि कोरोना के मामले आने के बाद पिछले वर्ष मार्च से लगे लाकडाउन से सिनेमाघर बंद थे। वर्ष 2020 में इन्हे अक्टूबर में खोलने की अनुमति मिली थी। इस वर्ष फिर मामले बढ़े तो अप्रैल में फिर इन्हें बंद कर दिया गया था। सोमवार से ही इन्हें खोलने की अनुमति मिली थी, लेकिन कोरोना दिशा-निर्देशों के तहत तैयारी करने पर शुक्रवार से सिनेमाघर खोलने का फैसला लिया गया था। हालांकि, अभी बड़ी मल्टीप्लेक्स कंपनियों ने ही सिनेमाघर खोले हैं।

Edited By: Prateek Kumar