नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली विश्वविद्यालय में स्नातकोत्तर, एमफिल-पीएचडी पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू हो गई है। छात्र 31 अगस्त तक आवेदन कर सकते हैं। छात्रों को दाखिले से जुड़ी जानकारी देने के लिए डीयू ने मंगलवार को पहला ओपन डेज आयोजित किया। डीयू ने कहा कि डिजिटल इंडिया के सपने को साकार करने की दिशा में आनलाइन दाखिला प्रक्रिया बड़ा कदम है। डीयू अगामी तीन दिनों तक लगातार ओपन डेज आयोजित करेगा।

दाखिला समिति के चेयरमैन प्रो राजीव गुप्ता ने स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में पंजीकरण से लेकर दाखिले तक की पूरी प्रक्रिया बताई। कहा-छात्र भरोसा रखें, दाखिले में किसी तरह की दिक्कत नहीं होगी। उन्होने कहा कि कई बार ऐसा होता है कि छात्र शुल्क जमा तो करते हैं लेकिन कोई मैसेज नहीं आता। इन परिस्थितियों में छात्र परेशान ना हों, कभी कभार कुछ समय लग जाता है। लेकिन डीयू की तरफ से शुल्क जमा करने का जवाब जरुर दिया जाएगा।

वहीं डीयू कुलसचिव डा विकास गुप्ता ने प्रवेश परीक्षा से जुड़ी जानकारी साझा की। कहा- राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी पारदर्शी तरीके से परीक्षा आयोजित कराती है। यदि छात्र को लगता है कि उसका मूल्यांकन सही नहीं हुआ है तो वह चुनौती भी दे सकता है। उन्होने छात्रों को सलाह दी कि जब भी साइबर कैफे में जाकर फार्म भरें तो शुल्क भुगतान क्रेडिट या डेबिट कार्ड से करें। दुकानदार पर आंख मूंदकर भरोसा ना करें। साथ ही छात्रों को लाग इन आइडी का पासवर्ड सम्हाल कर रखने की गुजारिश की। डीयू कुलसचिव ने कहा कि स्थितियों में सुधार होने पर विश्वविद्यालय चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा।

डीन एडमिशन प्रो. पिंकी गुप्ता ने कहा कि डीयू पोर्टल पर विभाग, पाठ्यक्रम, शुल्क की पूरी जानकारी उपलब्ध है। स्पोर्ट्स कोटा के तहत दाखिले की चाह रखने वाले छात्र इस बार चार साल के प्रमुख तीन प्रमाणपत्र जमा कर सकेंगे।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari