नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। 2020 Delhi Riots Chargesheet:  दिल्ली दंगा मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने बुधवार को कड़कड़डूमा स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश की अदालत में 15 आरोपितों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है। आरोपितों को देशद्रोह, दंगा करने व हत्या सहित 23 से अधिक संगीन धाराओं में आरोपित बनाया गया है। 11 हजार पन्नों के आरोप पत्र में 747 लोगों को गवाह बनाया गया है। पुलिस का यह दावा है कि उसके पास आरोप साबित करने के लिए पर्याप्त सुबूत है। इससे दंगा पीड़ितों को जल्द न्याय मिलने की उम्मीद बंधी है। दंगाइयों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जा सकता है, इसलिए बिना किसी भेदभाव के प्रत्येक गुनाहगार को उसके किए की सजा मिलनी चाहिए चाहे वह किसी भी धर्म या जाति का हो। पुलिस जांच से यह उम्मीद भी जगी है।

दिल्लीवासी फरवरी में उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगे को अबतक नहीं भूल सके हैं। कई दिनों तक यहां की सड़कों पर अराजकता का माहौल रहा था। कई निर्दोष लोगों की हत्या कर दी गई और कई गंभीर रूप से जख्मी हुए। कई लोगों के मकान, दुकान व वाहन आग के हवाले कर दिए गए थे। मृतकों के परिजनों व अन्य पीडि़तों की नजरें अब दिल्ली पुलिस व अदालत की ओर टिकी हुई है। अबतक की जांच को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि पुलिस इस मामले को लेकर गंभीर है। वह बारीकि से इसकी जांच कर रही है जिससे कि कोई भी गुनहगार बच न सके। दंगे से जुड़े कई मामलों में आरोप पत्र दायर हुए हैं और जांच अभी जारी है।

उम्मीद है कि जल्द ही अन्य आरोपितों के खिलाफ भी दिल्ली पुलिस आरोप पत्र दायर करेगी। भविष्य में कहीं भी इस तरह से खूनखराबा नहीं हो इसके लिए यह जरूरी है कि दंगाइयों को सख्त से सख्त सजा मिले। इस विषय पर किसी तरह की सियासत भी नहीं होनी चाहिए। सभी राजनीतिक पार्टियों व आम जनता को पुलिस की जांच में सहयोग करना चाहिए। 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस