नई दिल्ली [संतोष कुमार सिंह]। देश की राजधानी के रेलवे स्टेशनों की सफाई व्यवस्था की हकीकत स्वच्छता सर्वे में सामने आ गई है। रेलवे स्टेशनों की साफ-सफाई को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जा रहे थे जिससे इस बार इनकी रैंकिंग सुधरने की उम्मीद थी, लेकिन हुआ बिल्कुल उलट। ए1 श्रेणी में सिर्फ आनंद विहार टर्मिनल ही देश के सबसे साफ दस स्टेशनों में जगह बनाने में कामयाब हुआ है। छोटे स्टेशनों (ए श्रेणी) की स्थिति तो और भी खराब है। ए श्रेणी का कोई भी रेलवे स्टेशन स्वच्छता सूची के 200 स्टेशनो में भी शामिल नहीं है।

नई दिल्ली कैसे बनेगा विश्वस्तरीय स्टेशन
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने का सपना दिखाया जा रहा है। पिछले वर्ष की तरह इस बार भी ए1 श्रेणी के 75 रेलवे स्टेशनों में यह 39वें स्थान पर है। रेलमंत्री से लेकर अन्य वीआइपी यहां से सफर करते हैं। प्लेटफॉर्म नंबर एक और 16 तो साफ-सुथरा दिखता है, लेकिन अन्य प्लेटफॉर्म पर सफाई की स्थिति अच्छी नहीं है।

नहीं चमक सकी है पुरानी दिल्ली की सूरत
पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पुनर्विकास का काम चल रहा है। पिछले वर्ष की स्वच्छता रैंकिंग इसकी झलक दिखी थी। वर्ष 2016 में 65वें स्थान की तुलना में वर्ष 2017 में यह स्टेशन 24वें स्थान पर पहुंच गया था। लेकिन, अब फिर से यह स्टेशन अपनी पुरानी स्थिति में आ गई है। इस बार यह सबसे साफ 50 स्टेशनों की सूची से बाहर होकर 54वें स्थान पर पहुंच गया है।

हजरत निजामुद्दीन की बिगड़ी रैंकिंग
पिछले वर्ष के सर्वे में 23वें स्थान पर रहने वाला हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन 60वें स्थान पर पहुंच गया है। देश में ए1 श्रेणी के इस स्टेशन के बारे में कहा जाता है कि इसे साफ बनाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। सराय काले खां की ओर से यात्रियों का प्लेटफॉर्म आने जाने में होने वाली परेशानी दूर करने से सफाई व्यवस्था में भी सुधार होगी।

ए श्रेणी के स्टेशनों की सफाई पर देना होगा ध्यान
दिल्ली-एनसीआर के छोटे स्टेशनों पर साफ-सफाई का और भी बुरा हाल है। इनकी दशा सुधारने को लेकर कोई विशेष पहल नहीं की गई है। यही कारण है कि यहां का कोई भी स्टेशन साफ 200 स्टेशनों की सूची में भी शामिल नहीं है। पिछले वर्ष की तुलना में इस बार दिल्ली में स्थित ए श्रेणी के सभी चारों स्टेशनों की स्वच्छता रैंकिंग बिगड़ गई है। पिछले वर्ष 86वें स्थान पर रहने वाला दिल्ली कैंट इस बार 300 वें स्थान पर पिछड़ गया है।

उत्तर रेलवे 14वें स्थान पर
देश के 16 रेलवे जोन में उत्तर रेलवे की स्वच्छता रैंकिंग में पहले की तुलना में किसी तरह का कोई सुधार नहीं है। वर्ष 2017 की तरह इस बार भी वह 16 वें स्थान पर है। पिछले वर्ष ए1 श्रेणी में इसके दो स्टेशन जम्मूतवी और आनंद विहार टर्मिनल साफ पांच स्टेशनों में शामिल थे। इस बार जम्मूतवी 12वें स्थान पर है। इसी तरह से ए श्रेणी में पिछले वर्ष प्रथम स्थान पर रहने वाला व्यास इस बार 22वें स्थान पर है।

उत्तर रेलवे के सबसे साफ पांच स्टेशन
रेलवे स्टेशन- पूरे देश में स्थान

आनंद विहार-5 जम्मूतवी-12 अमृतसर-26 देहरादून-34 नई दिल्ली-39

स्टेशनों पर विकास कार्य चल रहा है

दिल्ली के स्टेशनों पर इन दिनों विकास कार्य चल रहा है। इससे स्टेशन पर मलबा दिखता है। यही कारण है कि आनंद विहार टर्मिनल को छोड़कर अन्य स्टेशन स्वच्छता रैंकिंग में पिछड़ गए हैं। दिसंबर तक काम पूरा होने के बाद स्थिति बेहतर होगी। अभी भी सफाई व्यवस्था में कोई कमी नहीं है। -आरएन सिंह (दिल्ली के मंडल रेल प्रबंधक)

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस