नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कस्तूरबा नगर इलाके में पीडि़ता के स्वजन से मुलाकात की। उन्होंने पीडि़ता के पिता, छोटी बहन, मौसी और नानी को भरोसा दिलाया कि उनकी पार्टी उनके साथ खड़ी है। साथ ही उन्हें आर्थिक मदद भी प्रदान की। उन्होंने दिल्ली सरकार से पीडि़ता को सरकारी नौकरी देने और दिल्ली पुलिस से पीडि़ता व उनके स्वजन की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार नौकरी नहीं देती तो उनकी पार्टी पीडि़ता के लिए निजी क्षेत्र में नौकरी दिलाने की व्यवस्था करेगी।

कांग्रेस नेता ने कहा कि राजधानी में पिछले सात सालों में महिलाओं के साथ अपराध बढ़े हैं। दिल्ली कैंट, कल्याणपुरी, पीरागढ़ी, त्रिलोकपुरी, खिचड़ीपुर में हुई वारदात का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि देश की राजधानी दुष्कर्म की घटनाओं से कलंकित हो रही है। कस्तूरबा नगर इलाके की घटना तो दिल को झकझोर देने वाली है। दिल्ली में कानून व्यवस्था बिगड़ी हुई है। इस दौरान उनके साथ पूर्व मंत्री डा. नरेंद्र नाथ, प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक जय किशन, पूर्व विधायक वीर सिंह धींगान, जिला अध्यक्ष जुबैर अहमद, कम्युनिकेशन विभाग के उपाध्यक्ष अनुज अत्रेय और अशोक मेहता मौजूद रहे।

कोरोना संक्रमित सांसद गंभीर ने फोन पर की बात : पूर्वी दिल्ली के भाजपा सांसद गौतम गंभीर की तरफ से उनके निजी सचिव गौरव अरोड़ा ने पीडि़ता के स्वजन से मुलाकात कर उनको हर संभव मदद का आश्वासन दिया। गंभीर कोरोना संक्रमित होने के कारण वहां नहीं पहुंचे सके। उन्होंने फोन पर पीडि़ता की बहन से बात कर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई कराने का आश्वासन दिया। भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष पंकज कोचर ने भी पीडि़ता की बहन से मुलाकात की।

Edited By: Pradeep Chauhan