नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi Pollution 2019 Report: दिल्ली-एनसीआर की हवा में दिवाली से घुला प्रदूषण का जहर खत्म नहीं हो रहा है। शुक्रवार की तुलना में शनिवार को हालांकि, वायु गुणवत्ता सूचकांक (air quality index) कम है, लेकिन दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर अब भी बना हुआ है। दिल्ली में शनिवार को भी पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर खतरनाक स्तर पर है। सुबह धूप तो निकली और आसमान भी साफ है, लेकिन लोगों ने आंखों में जलन और सांस लेने में परेशानी की शिकायत भी की है। दिल्ली-एनसीआर में शुक्रवार की तुलना में शनिवार को काफी राहत है। जहां शुक्रवार को AQI 500 के पार था, वहीं शनिवार को यह 400 से नीचे आ गया है।

Delhi Pollution 2019 Report:

  • हापुड़ में शुक्रवार की अपेक्षा शनिवार को प्रदूषण के स्तर में भारी गिरावट है। सुबह से धूप निकली है। जहां शुक्रवार को एक्यूआइ 348  था वहीं, शनिवार सुबह एक्यूआइ 236 अंक दर्ज किया गया।
  • शनिवार को भी दिल्ली के लोधी रोड इलाके में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर 500 बना हुआ है। सफर के मुताबिक, शनिवार  को भी हालात गंभीर बने रहेंगे। रविवार को हालात में सुधार होने की उम्मीद है।
  • दिल्ली-एनसीआर में धूप निकली हुई है, लेकिन पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर खतरनाक ही  बना हुआ है। दिल्ली और इससे सटे शहरों में पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों ही 400 के पार है। 
  • दिल्ली से सटे गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब स्तर में है। इंदिरापुरम में 437, लोनी में 440 और वसुंधरा में 430 है। ये आंकड़े बता रहे हैं कि हालात खतरनाक हैं।
  • दिल्ली के वजीरपुर इलाके में वायु गुणवत्ता सूचकांक (air quality index) बेहद खराब है यहां पर AQI 437 तो बाहरी दिल्ली के मुंडका इलाके में इसका स्तर 458 है।

  • दिल्ली-एनसीआर में शनिवार सुबह से हवा तो चल रही है, लेकिन इसकी गति इतनी धीमी है कि इससे जल्द राहत मिलने के आसार नहीं है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, शनिवार शाम या फिर रविवार सुबह हवाओं की गति बढ़ने से लोगों को राहत मिलेगी।

  •  प्रदूषण की इमरजेंसी झेल रहे एनसीआर के शहरों को लगातार चौथे दिन शुक्रवार को भी राहत नहीं मिली।  शुक्रवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स तीन अंकों की मामूली कमी के साथ 458 रहा।
  • शुक्रवार को गाजियाबाद देश का सबसे प्रदूषित शहर रहा। यहां का एयर इंडेक्स 471 दर्ज किया गया। हवा में प्रदूषक कणों की मौजूदगी अब भी पांच गुना ज्यादा है। शाम पांच बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्रा 526 और पीएम 2.5 कणों की मात्रा 379 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर थी।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी), सफर और स्काईमेट के अनुसार शनिवार को स्थिति में मामूली सुधार आएगा, लेकिन प्रदूषण गंभीर स्थिति में ही बना रहेगा। पराली का धुआं दिल्ली को सिर्फ दस फीसद ही प्रभावित कर रहा है।

दिल्ली में कई तरह के प्रदूषण कण आपस में रिएक्शन कर सेकेंडरी पार्टिकल बना रहे हैं। वहीं, पश्चिमी विक्षोभ की वजह से पूरे उत्तर पश्चिम भारत में बादल छाए हुए हैं। इस कारण प्रदूषण की स्थिति गंभीर बनी हुई है।

हवा की रफ्तार में थोड़ी बढ़ोतरी

एक दिन पहले की तुलना में शुक्रवार को हवा की रफ्तार थोड़ी बढ़ी और दस किमी तक पहुंच गई। प्रादेशिक मौसम अनुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि शनिवार से हवा की रफ्तार बढ़ेगी।

दिल्ली आ रहीं दो उड़ानें डायवर्ट

स्मॉग की वजह से आइजीआइ एयरपोर्ट पर शुक्रवार को कम दृश्यता के कारण दिल्ली आ रही दो उड़ानों को डायवर्ट कर उन्हें लखनऊ और जयपुर एयरपोर्ट पर उतारा गया। एयरपोर्ट अधिकारियों ने बताया कि इन दोनों विमान के पायलट कैट प्रशिक्षित नहीं थे, जिसके कारण विमानों को डायवर्ट करना पड़ा। दरअसल, कम दृश्यता के दौरान विमान को उतारने व उड़ाने के लिए पायलट का प्रशिक्षित होना जरुरी होता है। वहीं, कम दृश्यता से कुछ उड़ानों में आंशिक रूप से देरी हुई।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस