नई दिल्ली, न्यूज एजेंसी। धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में गिरफ्तार आल्ट न्यूज के को-फाउंडर और फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने बताया कि जुबैर को पिछले तीन महीने में 50 लाख रुपये की फंडिंग मिली है।

दिल्ली पुलिस ने बताया कि मोहम्मद जुबैर के खाते में 50 लाख रुपये आए हैं। जो पिछले तीन महीने में कई किस्तों में ट्रांसफर किए गए हैं। इसके पर्याप्त सबूत भी हैं। पुलिस जांच में यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि यह फंडिंग कहां से आई है। साथ ही जुबैर को बुधवार को बेंगलुरू ले जा सकती है।

ये भी पढ़ें- Mohammad Zubair Arrest: चार दिन पुलिस की रिमांड में रहेंगे आल्ट न्यूज के को-फाउंडर मोहम्मद जुबैर, पढ़िए पूरा मामला

बैंगलोर से जब्त किया जाएगा मोबाइल और लैपटाप

मोहम्मद जुबैर को पटियाला हाउस कोर्ट ने चार दिन की पुलिस रिमांड के लिए भेज दिया है। पुलिस ने जुबैर को सोमवार देर शाम धार्मिक भावनाएं आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। वहीं, कोर्ट ने कहा कि आरोपित का मोबाइल और लैपटाप भी उसके बैंगलोर स्थित आवास से बरामद किया जाना है। जिससे ट्वीट पोस्ट किए जाते थे। चार दिन की रिमांड इसलिए सौंपी गई है, क्योंकि आरोपित को बैंगलोर जाना है।

मंगलवार को रिमांड का समय खत्म होने के बाद पुलिस ने फिर से दोपहर करीब 3 बजे पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया था। जहां पुलिस के अधिवक्ता ने कोर्ट में कहा कि जुबैर के खिलाफ पहले से अलग-अलग मामलों में भी कई एफआइआर दर्ज हैं।

पुलिस के अधिवक्ता ने बताया क्यों किया गिरफ्तार?

दिल्ली पुलिस के अधिवक्ता ने सुनवाई के दौरान कोर्ट को बताया कि मोहम्मद जुबैर को पुलिस ने इसलिए गिरफ्तार किया है, क्योंकि आरोपित पुलिस से जांच में सहयोग नहीं कर रहा था। जब जांच में वह शामिल हुआ तो उसने अपने मोबाइल से सभी एप्स डिलीट कर दिए थे, अब मोबाइल में कुछ भी नहीं है।

Edited By: Geetarjun Gautam