नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। दिल्‍ली पुलिस क्राइम ब्रांच की एसआइटी की टीम मंगलवार को जामिया यूनिवर्सिटी पहुंची है। यहां एसआइटी जामिया यूनिवर्सिटी के लगातार लीक हो रहे वीडियो की जांच करेगी।

पिछले कुछ दिनों से जामिया यूनिवर्सिटी हिंसा मामले में कई वीडियो लीक हुए हैं जिसमें कभी पुलिस के ऊपर जबदस्‍ती मारपीट करने का आरोप लगा तो कभी छात्र पर पत्‍थरबाजी की साजिश करने का आरोप लगा। हालांकि अब एक यह भी ततथ्‍य सामने आ रहा है कि कुछ वीडियो इसमें से डॉर्क्‍टड (छेड़छाड़ किया हुआ) हैं।

इधर, जामिया मिल्‍लिया इस्लामिया के पूर्व छात्र संघ ने जामिया नगर पुलिस स्‍टेशन में दिल्‍ली पुलिस के खिलाफ ही मामला दर्ज कराया है। यहा दी गई शिकायत में बताया गया है कि 15 दिसंबर, 2019 को दिल्ली पुलिस छात्रों के साथ बेरहमी से पेश आई थी। इधर, सीसीटीवी फुटेज को लेकर चल रहे विवाद के बाद यह एक बड़ा कदम माना जा रहा है।

बता दें कि दिल्‍ली पुलिस द्वारा छात्रों को लाइब्रेरी के अंदर मारते हुए वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। इसके बाद से राजनीति तेज हो गई है। इसी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर शिकायत दी गई है।   

बता दें कि जामिया के वीडियो की एसआइटी अभी जांच कर रही है। घटना के तीन दिन बाद ही डीसीपी ने खुद जामिया जाकर सभी फुटेज देने की मांग की थी। पहले तो जामिया प्रशासन ने फुटेज देने से मना कर दिया था। बाद में 250 घंटे का फुटेज दिया था। डीसीपी ने जामिया के कुलपति से अनुरोध किया था कि जांच पूरी होने तक वे कोई भी फुटेज लीक ना करें। लेकिन, अब फुटेज लीक हो रही हैं और इस पर भी जांच शुरू हो गई है कि यह कहां से लीक हो रही हैं।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस