नई दिल्ली [धनंजय मिश्रा]। न्यू राजेंद्र नगर इलाके में घरेलू सहायिका ने मालकिन के 15 वर्षो के भरोसे को उन्ही की शादी की सालगिरह वाले दिन तोड़ दिया। घरेलू सहायिका ने अपने दामाद के साथ मिलकर घर में लाखों रुपये व गहनों की चोरी करवा दी। मामले में शुक्रवार को पुलिस ने मुख्य आरोपित आशा (42), चेतन (29), प्रमोद उर्फ प्रेम (27), कुणाल (20) और विपिन (23) को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से पुलिस ने चुराई गई ज्वेलरी, करीब तीन लाख रुपए और वारदात में इस्तेमाल की गई स्कूटी बरामद की है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, छह दिसंबर को डबल स्टोरी न्यू राजेन्द्र नगर में चोरी की एक घटना हुई। पीड़ित ने बताया की लाकर में रखी ज्वेलरी और करीब सात से आठ लाख रुपए चोरी हुए हैं। जांच के क्रम में पुलिस ने इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज खंगाला। एक फुटेज में ब्राउन कलर की स्कूटी पर सवार दो संदिग्ध देखे गए। स्कूटी की नंबर प्लेट को छिपाने की कोशिश की गई थी।

ऐसे में पुलिस ने ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी से ब्राउन कलर की सभी स्कूटी के रिकॉर्ड को निकलवाया। जिसके बाद उस पर जांच केंद्रित कर स्कूटी मालिकों की भूमिका को जांचा गया। घर में काम करने वाली घरेलू सहायिका से पूछताछ की गई। जिससे पुलिस को पता चला कि इस वारदात में घरेलू सहायिका आशा भूमिका है। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की गई । जिसके बाद पूरी घटना सामने आई।

पहले से बनाई थी योजना 

पुलिस की पूछताछ में आराेपित आशा ने बताया कि उसे पता था कि गत पांच दिसंबर को उसके मालिक अपनी शादी की सालगिरह बाहर मनाने जाएंगे। ऐसे में उसने अपने दामाद चेतन को घर में रखे गहने व नकदी आदि की जानकारी दे दी थी। सालगिरह वाले दिन घर के लोग आशा को भी अपने साथ ले गए थे। इसलिए आशा ने लाकर के दरवाजे लाक नहीं किया था। जब सभी लोग घर से बाहर चले गए तो चेतन अपने अन्य साथियों के साथ घर में दाखिल हुआ। और वारदात को अंजाम देकर फरार हाे गया।

Edited By: Pradeep Chauhan