नई दिल्ली, जेएनएन। Delhi Air Quality: विजयदशमी के अवसर पर पटाखे जलाने की वजह से दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में वायु प्रदूषण का खतरा बढ़ सकता है। हवा की गुणवत्ता (Air Quality) में गिरावट की उम्मीद जताई जा रही है। बताया जा रहा है कि ठंड का मौसम आने की वजह से और पंजाब-हरियाणा में पराली जलाना इसकी प्रमुख वजह है। इसके अलावा हवा की रफ्तार कम होने की वजह से पटाखे जलाने की वजह से हवा की गुणवत्ता में गिरावट का खतरा बढ़ गया है।

बताया जा रहा है कि दिवाली के बाद दिल्ली समेत समूचे उत्तर भारत में हवा की गुणवत्ता और खराब हो सकती है। बुधवार को यानी आज एयर क्वॉलिटी खराब होकर मॉडरेट क्वॉलिटी के बीच तक जा सकती है। जानकारी के मुताबिक, मानसून खत्म होने के बाद हवा की रफ्तार कम होने से हवा की गुणवत्ता और खराब होने की स्थिति बन सकती है। हालांकि पिछले सप्ताह तक दिल्ली की हवा साफ रही।

अब नहीं होगी बारिश

मौसम विभाग के अनुसार, अब दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत में बादल छाए रहने की उम्मीद नहीं है। ऐसे में आसमान साफ रहेगा और हवा की गति कम रहेगी। इसकी वजह से हवा में प्रदूषण करने वाले कण दिखाई देंगे और हवा की गुणवत्ता खराब रहने की पूरी संभावना है। 

दस अक्टूबर से मानसून की विदाई शुरू

स्काईमेट वेदर के अनुसार, दस अक्टूबर से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी। मानसून इस सप्ताह विदा हो जाएगा। बता दें की इस बार मानसून देरी से विदाई ले रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक, पर्यावरण में लगातार हो रहे बदलाव की वजह से फसलों पर विपरीत असर पड़ने की पूरी संभावना है। धान की फसल को नुकसान पहुंच सकता है। 

मौसम विभाग के अनुसार, आसमान साफ रहने की वजह से तापमान में गिरावट आएगी। दिल्ली का न्यूनतम तापमान इस सप्ताह बीस डिग्री तक पहुंच सकता है। हवा की दिशा बदलने और नमी की मात्रा बढ़ने से प्रदूषण के स्तर में बढ़ोतरी होगी।

 

C- 40 Summit 2019: सीएम केजरीवाल का डेनमार्क दौरा रद, विदेश मंत्रालय से नहीं मिली मंजूरी

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस