नई दिल्ली/ ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) ने ग्रेटर नोएडा के नालेज पार्क से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक एयरपोर्ट मेट्रो की व्यावहारिकता रिपोर्ट यमुना प्राधिकरण को सौंप दी है। इस कारिडोर में छह स्टेशन होंगे।

नोएडा एयरपोर्ट से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक 72.5 किमी लंबा कारिडोर होगा। इसके निर्माण पर 7600 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। प्राधिकरण की 24 अगस्त को होने वाली बोर्ड बैठक में इस रिपोर्ट को स्वीकृति के लिए रखा जाएगा।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट को इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से मेट्रो कनेक्टिविटी के लिए यमुना प्राधिकरण ने विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) व व्यावहारिकता रिपोर्ट तैयार कराई है। डीएमआरसी नोएडा एयरपोर्ट से ग्रेटर नोएडा के नालेज पार्क दो तक मेट्रो कारिडोर के लिए पहले ही डीपीआर यमुना प्राधिकरण को सौंप चुकी है।

नालेज पार्क दो से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक मेट्रो कारिडोर की व्यावहारिकता रिपोर्ट भी प्राधिकरण को सौंप दी गई है। नालेज पार्क दो से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक यह कारिडोर 37.5 किमी होगा। इसका 3.5 किमी हिस्सा भूमिगत होगा और शेष 34 किमी हिस्सा एलिवेटेड होगा।

छह स्टेशन प्रस्तावित

डीएमआरसी ने नालेज पार्क दो से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक छह स्टेशन प्रस्तावित किए हैं। यह स्टेशन नालेज पार्क दो, नोएडा सेक्टर 142, ओखला बर्ड सेंक्चुरी, न्यू अशोक नगर, दिल्ली गेट और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन होंगे। मेट्रो ट्रैक 120 किमी प्रति घंटा की रफ्तार लिए होगा। इस साल के अंत तक मेट्रो के लिए जरूरी अनापत्ति एवं अनुमति मिलने की उम्मीद है।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari