जागरण संवाददाता, नई दिल्ली: एमसीडी चुनाव के नतीजे किस राजनीतिक दल के पक्ष में आएंगे, यह तो मतगणना के बाद पता चलेगा, लेकिन कौन प्रत्याशी जीतेगा या किसे मिलेगी हार, इस पर लोगों की नजर जरूर टिकी रहेगी। सबसे ज्यादा उन नेताओं की सीटों पर नजर रहेगी, जो या तो सामाजिक कद से बड़े हैं या फिर निगम में पूर्व में किसी बड़े पद पर रहे हैं। भाजपा की 250 सीटों में नौ सीटों पर पूर्व महापौर चुनाव लड़ रहे हैं। इसी प्रकार कांग्रेस से पूर्व महापौर फरहाद सूरी भी चुनावी मैदान में हैं।

पांच बार से पार्षद ने भी नगर निगम का चुनाव लड़ा 

लगातार पांच बार पार्षद का चुनाव जीत चुके मुकेश गोयल भी आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से नगर निगम चुनाव लड़ रहे हैं। उनका यह छठा चुनाव है। अगर वह चुनाव जीते तो यह भी रिकार्ड बन जाएगा। इससे पूर्व कांग्रेस के पूर्व पार्षद रमेश दत्ता चार बार निगम का चुनाव जीते थे, लेकिन उन्हें बीच में हार का भी सामना करना पड़ा था। जबकि, मुकेश गोयल आदर्श नगर वार्ड से चुनाव लड़ रहे हैं। वह वर्ष 2002 से 2007 में कांग्रेस के शासन के दौरान स्थायी समिति के चेयरमैन भी रहे हैं। भाजपा प्रत्याशियों की बात करें तो दक्षिणी निगम में महापौर रही कमलजीत सहरावत द्वारका बी-वार्ड से चुनाव लड़ रही है। उनके सामने आप से सीजीएचएस सोसायटी आरडब्ल्यूए की अध्यक्ष सुधा सिन्हा चुनाव मैदान में है।

भाजपा प्रत्याशी अवतार सिंह पुन: चुनावी मैदान में

इसी प्रकार सिविल लाइंस वार्ड से भाजपा प्रत्याशी अवतार सिंह पुन: चुनावी मैदान में थे। भाजपा से पूर्व महापौर रहे राजा इकबाल सिंह मुखर्जी नगर वार्ड से चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि पूर्वी निगम में महापौर रहे बिपिन बिहारी मयूर विहार वार्ड से चुनाव लड़ रहे हैं। पूर्व महापौर नरेंद्र चावला की पत्नी उर्मिला चावला जनकपुरी वेस्ट वार्ड से चुनाव लड़ी हैं। इसी प्रकार नेता प्रतिपक्ष रहे विकास गोयल केशवपुरम वार्ड से आप की टिकट पर चुनाव लड़े हैं। उनके सामने पूर्व उपमहापौर योगेश वर्मा चुनाव मैदान में हैं।

Delhi MCD 2022 के चुनाव के नतीजे देखें

Delhi MCD Election 2022: आप से पांच महिला पार्षद होंगी महापौर की दावेदार

Edited By: Nidhi Vinodiya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट