नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने मंगलवार को दिल्ली में अग्नि सुरक्षा तैयारियों की समीक्षा बैठक की, उन्होंने दिल्ली अग्निशमन सेवा (डीएफएस) को सुरक्षा मानकों से समझौता किए बिना गैर-आपत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) प्राप्त करने की प्रक्रियाओं को युक्तिसंगत और सरल बनाने के लिए विशेष निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी नियम को सफल होने के लिए उसे अनुपालन योग्य बनाना होगा, नहीं तो यह आम लोगों के उत्पीड़न का एक साधन बनेगा।

छोटे व्यापारियों को मिले राहत 

एलजी ने संशोधित प्रक्रियात्मक दिशा निर्देशों को दीपावली से पहले लागू करने के लिए कहा ताकि छोटे भोजनालयों, रेस्तरां, नर्सिंग होम,शोरूम और अन्य प्रतिष्ठान जिन्हें एनओसी प्राप्त करने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है उन्हें कुछ राहत मिल सके।

दिल्ली में 50 ऐसे स्थान होंगे चिन्हित जहां आग लगने की संभावना सबसे अधिक

एलजी ने अग्निशमन सेवा के अधिकारियों को निर्देश दिया कि वे दिल्ली में कम से कम 50 ऐसे स्थानों की पहचान करें जहां आग लगने की संभावना सबसे अधिक हो और इन स्थानों पर दमकल गाड़ी तैनात करें, साथ ही एम्बुलेंस सेवाओं के साथ एकीकृत करें ताकि किसी भी आपात स्थिति में त्वरित प्रतिक्रिया सुनिश्चित की जा सके। शुरुआत में दीपावली से पहले ऐसे 12 से अधिक स्थानों की पहचान की जाएगी इसके बाद पूरे शहर के लिए एक योजना तैयार की जाएगी। एलजी ने जोर देकर कहा कि अगर आग लगने की घटना को तुरंत काबू कर लिया जाए तो जानमाल की हानि नहीं हाेगी।

16 नए दमकल केंद्र बनाए जाएंगे

एलजी ने निर्देश दिया कि राजधानी में मौजूदा 64 दमकल केंद्राें का बढ़ा कर 80 किया जाए, साथ ही 220 दमकल गाड़ियों को बढ़ाकर 350 करने का निर्देश दिया। उन्होंने फायर रेस्क्यू काल के लिए प्रतिक्रिया समय को 2-3 मिनट तक कम करने के स्पष्ट निर्देश दिए। वर्तमान में रेस्क्यू काल पर दमकल की प्रतिक्रिया का समय कम से कम 08 मिनट और अधिकतम 16 मिनट होता है। एलजी ने प्राथमिकता के आधार पर मोटर पंप, फोम टेंडर, हाइड्रोलिक प्लेटफार्म, रिमोट आपरेटेड फायर फाइटिंग मशीन (रोबोट), मल्टी-आर्टिकुलेटेड फायर टावर्स, ड्रोन स्प्रिंकलर, एरियल लैडर्स जैसे अति आधुनिक अग्निशमन उपकरणों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने यह भी कि अस्पतालों, कालेज, स्कूल, छात्रावास और भीड़-भाड़ वाले बाजारों में नियमित मॉकड्रिल कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए।

बैठक के दौरान, एलजी ने यह निर्देश भी दिए

  • नए दमकल केंद्रों की स्थापना के लिए भूमि की पहचान करना
  • पशु और पक्षी बचाव में दमकल कर्मियों के उचित प्रशिक्षण के लिए गैर सरकारी संगठनों/विशेषज्ञों को शामिल करना
  • अग्निशमन विभाग के कामकाज में सुधार के लिए अतिरिक्त संसाधन की कमियों और आवश्यकता का आकलन करने के लिए आग की
  • घटनाओं में हुई मौतों की लेखा परीक्षा
  • दमकल गाड़ियों के आपात स्थिति में घटनास्थल तक पहुंचने में लगने वाले समय को ट्रैक करने के लिए जीपीएस लगाया जाए।
  • अग्निशमन विभाग में 1112 रिक्त पदों को प्राथमिकता के आधार पर भरा जाए
  • कनाट प्लेस में अग्निशमन सेवा मुख्यालय भवन के निर्माण में तेजी लाना।

Edited By: Prateek Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट