नई दिल्ली, जेएनएन। दिल्ली सरकार ने करीब छह वर्ष बाद ऑटो रिक्शा के किराये में वृद्धि को मंजूरी दे दी है। अब 2 किलोमीटर के बजाय डेढ़ किमी पर मीटर डाउन होगा। पहले डेढ़ किमी के लिए लेागों को 25 रुपये देने होंगे। उसके बाद साढ़े नौ रुपये प्रति किमी की दर से भुगतान करना होगा, जबकि पहले आठ रुपये ही देने होते थे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में शुक्रवार को हुई दिल्ली कैबिनेट की बैठक में ऑटो किराये में बढ़ोतरी को मंजूरी दी गई। इससे करीब एक लाख ऑटो चालकों को लाभ होगा। सरकार ने परिवहन विभाग को इस बाबत तत्काल प्रभाव से अधिसूचना जारी करने के आदेश दिए हैं। अधिसूचना जारी होने के साथ ही नया किराया लागू हो जाएगा।

इससे पहले मई 2013 में तत्कालीन शीला दीक्षित सरकार ने किराये में बढ़ोतरी की थी। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कैबिनेट के निर्णय की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ऑटो के रात्रि शुल्क और लगेज शुल्क में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

अहम बातें

  • पहले 25 रुपये में 2 किमी पर मीटर डाउन होता था, लेकिन अब इसे 1.5 किमी पर कर दिया गया है।
  • पहले 2 किमी के बाद यात्रियों को आठ रुपये प्रति किमी की दर से भुगतान करना पड़ता था तो वहीं अब बढ़ोतरी लागू होने पर 9 रुपये 50 पैसे देने होंगे।
  • पहले प्रतीक्षा शुल्क 50 पैसा प्रति मिनट था। इसे भी बढ़ाकर 75 पैसा प्रति मिनट कर दिया गया है।
  • पहले के 15 मिनट की न्यूनतम प्रतीक्षा के कैप को हटा दिया गया है।
  • अब लालबत्ती पर रुकने, ट्रैफिक जाम में फंसने और जाम के कारण ट्रैफिक बेहद धीमा होने पर भी लोगों को 75 पैसा प्रति मिनट की दर से भुगतान देय होगा।

वहीं, परिवहन मंत्री ने कहा कि किराये में बढ़ोतरी के बावजूद मुंबई की तुलना में दिल्ली में ऑटो किराया अब भी सस्ता है। एक सवाल के जवाब में परिवहन मंत्री ने कहा कि परिवहन रिजर्व विषय है और इससे संबंधित फाइल पर उपराज्यपाल की मंजूरी जरूरी नहीं है।

ऑटो चालकों ने किया स्वागत
आम आदमी पार्टी की ऑटो विंग के अध्यक्ष संतोष पांडेय व संगठन मंत्री उपेंद्र सिंह ने किराया बढ़ाए जाने पर परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का दिल्ली सचिवालय में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मंत्री ने ऑटो चालकों की समस्याओं को दूर किया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस