नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। देश की राजधानी दिल्ली में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दिल्ली में छेड़छाड़ से परेशान होकर राष्ट्रीय स्तर की जूडो खिलाड़ी ने मौत को गले लगाया। उसने आत्महत्या कर ली। जागरण संवाददाता के मुताबिक, शाहबाद डेरी इलाके में बृहस्पतिवार की रात को राष्ट्रीय स्तर की जूडो खिलाड़ी ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। खिलाड़ी की पहचान मोनिका के रूप में हुई है।

स्वजन का आरोप है कि मोनिका से बीते कुछ दिनों से पास का ही एक लड़का छेड़छाड़ कर रहा था। इसको लेकर वह मानसिक रूप से काफी परेशान थी। पुलिस को मोनिका के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है।

दरवाजा तोड़ने पर चला पता

मोनिका की मां अंजू ने बताया कि बृहस्पतिवार को वह दुकान पर थीं। रात को करीब सवा दस बजे जब वह घर आईं तो घर का दरवाजा अंदर से बंद मिला। उन्होंने कई बार दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई। जब आसपास के लोगों ने दरवाजा तोड़ा तो अंदर मोनिका ने फंदा लगा रखा था।

बेटी को फांसी पर लटकता देख पिता हुए बेहोश

अंजू ने बताया कि मोनिका को पास का ही एक लड़का छेड़ता था। इस वजह से वह काफी परेशान रहती थी। कुछ दिनों पहले वह लड़का घर तक आ पहुंचा था। मोनिका के पिता रामचंद्र बेटी को फंदे से लटकते देखकर बेहोश हो गए थे।

लड़के से परेशान थी खिलाड़ी युवती

रामचंद्र ने बताया कि बिस्तर से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि उसे शाहबाद डेरी का एक लड़का परेशान करता था। इस वजह से वह आत्महत्या कर रही है। रामचंद्र ने बताया कि मोनिका ने उन्हें इस संबंध में बताया था। उन्होंने बच्चा समझकर इस बात को नजर अंदाज कर दिया था। अगर वह ध्यान देते तो ऐसा नहीं होता।

राजस्थान से लौटी थी मोनिका

स्वजन ने बताया कि मोनिका कई राज्यों में राष्ट्रीय स्तर पर छह स्वर्ण पदक समेत कई पदक जीत चुकी थी। बुधवार को ही वह राजस्थान से प्रतियोगिता में भाग लेकर लौटी थी। पुलिस प्राथमिकी कर जांच में जुट गई है। 

Edited By: Jp Yadav