नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। राजधानी में नाइट कर्फ्यू के दौरान बृहस्पतिवार की रात ओला और उबर के कैब चालकों की लूट के बाद हत्या कर दी गई। इसमें एक कैब चालक ग्रेटर नोएडा तो दूसरा दिल्ली का रहने वाला है। पुलिस ने हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए वारदात को अंजाम देने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि एक आरोपित अभी फरार चल रहा है। पकड़ गए बदमाशों की पहचान नेहरु नगर निवासी अक्कू उर्फ आकाश और बलजीत नगर के गुलशन चौक निवासी जुनैद के रूप में हुई है।

पुलिस के मुताबिक, ग्रेटर नोएडा निवासी छविलाल ओला में कैब चलाते थे। बृहस्पतिवार रात करीब साढ़े 12 बजे आनंद पर्वत इलाके से उनकी कैब बुक की गई थी। इसकी जानकारी उन्होंने स्वजन को दी थी। रात एक बजे के बाद उनका फोन लगना बंद हुआ तो स्वजन को चिंता हुई। इसके बाद उन्होंने पुलिस से संपर्क किया, लेकिन उनका कोई पता नहीं चल सका। इधर गुलाबी बाग पुलिस ने शुक्रवार की सुबह कैब को लावारिस हालत में बरामद किया।

इसके बाद उत्तर पश्चिमी जिले के भारत नगर इलाके में गंदे नाले के पास से एक शव बरामद किया गया, जिसकी पहचान ग्रेटर नोएडा निवासी विवेक ने अपने जीजा छविलाल के रूप में की है। इधर, बृहस्पतिवार की रात ही आनंद पर्वत इलाके के रहने वाले उबर कैब चालक अनिल यादव का शव भी बरामद किया गया। एसएचओ आनंद पर्वत मुकेश कुमार व इंस्पेक्टर योगेंद्र कुमार के नेतृत्व में मामले की जांच शुरू की गई तो दोनों ही मामलों की कड़ियां एक दूसरे से जुड़ती चली गईं। इसके बाद पुलिस ने दो बदमाश नेहरु नगर निवासी अक्कू उर्फ आकाश (19) और बलजीत नगर के गुलशन चौक निवासी जुनैद (19) को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से पुलिस ने लूट के तीन मोबाइल फोन और एक कैब की चाबी बरामद की है।

पूछताछ में बदमाशों ने बताया कि उन्होंने कैब चालकों को लूटने के लिए दोस्त प्रीतम के साथ मिलकर योजना बनाई थी। छह और सात जनवरी की रात एक बजे उन्होंने पहली कैब बुक की थी। उसके बाद चालक का गला घोंटकर हत्या कर दी और शव फुटपाथ के पास फेंक दिया। इसके बाद दूसरी कैब बुक की और उसके चालक की भी पीछे से पकड़कर गला घोंट दिया। दोनों बदमाश ड्रग्स के आदी हैं। ड्रग्स खरीदने के लिए लूट की योजना बनाई थी। दोनों पर पहले से भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस तीसरे बदमाश की तलाश कर रही है।

नशीला पदार्थ सुंघा चोरी किया था मोबाइल

पुलिस के मुताबिक बदमाशों ने चोरी के मोबाइल के जरिये दो कैब बुक करके वारदात को अंजाम दिया है। इसके लिए बदमाशों ने पहले एक व्यक्ति को नशीला पदार्थ सुंघाकर उसका मोबाइल चोरी किया। इसके बाद उसी फोन से उबर कैब बुक करके चालक अनिल यादव की हत्या कर लूट की घटना को अंजाम दिया। इसके बाद आनंद पर्वत इलाके में ही ओला कैब बुक की और इसके चालक छविलाल की हत्या कर नकदी व अन्य सामान लूट लिया। इन दोनों वारदातों को बृहस्पतिवार की रात एक बजे से सुबह सात बजे के बीच अंजाम दिया गया।

70 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालकर बदमाशों तक पहुंची पुलिस

एक ही रात दो कैब चालकों की हत्या और लूट को दिल्ली पुलिस ने चुनौती के रूप में लिया। इसके बाद दोनों ही घटनास्थल के आसपास लगे 70 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को खंगाला। उबर और ओला कंपनी से आखिरी बार बुक की गई कैब की जानकारी मांगी। कैब बुक करने वाले नंबर की जांच की गई तो पता चला कि युवक को बेहोश कर मोबाइल चोरी कर लिया गया था। इसके बाद पुलिस टीम ने टेक्निकल सर्विलांस के आधार पर शुक्रवार शाम को दोनों बदमाशों को दबोच लिया।

Edited By: Pradeep Chauhan