नई दिल्ली, एएनआइ। अगस्ता वेस्टलैंड से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले में आरोपित गौतम खेतान को जमानत मिल गई है। मंगलवार को खेतान की याचिका पर सुनवाई करते हुए सीबीआइ की विशेष अदालत ने 25 लाख के मुजलके पर जमानत दी। कोर्ट ने गौतम खेतान से कहा है कि वह गवाहों और सुबूतों से छेड़छाड़ न करें।

सीबीआइ कोर्ट ने गौतम खेतान से कहा है कि वह जांच एजेंसी को अपना फोन नंबर और पता मुहैया कराएंगे। बता दें कि वकील और व्यवसायी गौतम खेतान ने जमानत के लिए सीबीआइ में अर्जी दाखिल की थी।
 

बता दें कि कालेधन और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वकील गौतम खेतान को कुछ महीने पहले ही गिरफ्तार किया था । आयकर विभाग ने खेतान के खिलाफ कालेधन का मामला दर्ज किया है। खेतान पर आरोप है कि वे गैर-कानूनी तरीके से विदेशी खाते ऑपरेट कर रहे थे, उनके पास कालाधन है। बता दें कि गौतम खेतान अगस्ता वेस्टलैंड सौदे मामले में भी आरोपी हैं।

गौरतलब है कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले मामले में सितंबर 2014 में खेतान को गिरफ्तार किया गया था, इसके बाद जनवरी 2015 में वह जमानत पर बाहर आ गए थे। इसके बाद दिसंबर 2016 में उनकी फिर से गिरफ्तारी हुई, बाद में फिर से जमानत में छूट गए थे। बताया जा रहा है कि चीली, हांगकांग, जाम्बिया, मॉरीशस, मलेशिया में लाखों डॉलर के लेन-देन पाया गया है।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mangal Yadav