नई दिल्ली [संजीव गुप्ता]। आम आदमी पार्टी (आप) के मुखिया एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार को पंजाब जाएंगे। केजरीवाल ने स्वयं ट्वीट कर इस बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि पंजाब बदलाव चाहता है। सिर्फ आम आदमी पार्टी ही उम्मीद है। कल यानि सोमवार को अमृतसर में मिलते हैं। इसे रि-ट्वीट करते हुए पंजाब में आप के नेता और सांसद भगवंत मान ने लिखा कि आपका स्वागत है।

गौरतलब है कि अगले साल पंजाब विधानसभा का चुनाव है और 2017 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी पार्टी बनकर उभरी थी। पंजाब की 117 सीटों में से कांग्रेस ने 77 सीटों पर कब्जा जमाते हुए सरकार बनाई थी। वहीं पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ रही आम आदमी पार्टी के खाते में 20 जबकि शिरोमणि अकाली दल के खाते में 15 सीटें आई थी। भाजपा को केवल तीन सीटों से ही संतोष करना पड़ा था। इस तरह आम आदमी पार्टी पहली बार दिल्ली से बाहर किसी राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी बनी थी।

अपनी पार्टी का जनाधार दिल्ली के अलावा अन्य जगहों पर बढ़ाने की कड़ी में केजरीवाल का सबसे ज्यादा ध्यान पंजाब पर ही केन्द्रित है। इससे पहले वे गुजरात के दौरे पर गए थे। गुजरात के स्थानीय चुनाव में भी आम आदमी पार्टी को आंशिक सफलता मिली है। केजरीवाल के पंजाब जाने की घोषणा के साथ वहां की राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। चर्चा है कि अमृतसर में केजरीवाल पंजाब के पूर्व आइजी कुंवर विजय प्रताप सिंह को पार्टी में शामिल करवा सकते हैं। इससे पहले केजरीवाल मार्च में पंजाब गए थे जहां अमरिंदर सरकार पर लोगों से वादाखिलाफी का आरोप लगाया था।

बता दें कि पंजाब में अगले साल 2022 में विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है। सभी पार्टी पार्टियां चुनाव की तैयारी जोर-शोर से कर रही हैं। अकाली दल ने जहां बसपा से गठबंधन कर चुनाव में उतरने का एलान किया है वहीं सत्ताधारी कांग्रेस में गुटबाजी देखी जा रही है। ऐसे में आम आदमी पार्टी पंजाब में अपनी संभावनाएं तलाश रही है। केजरीवाल का दौरा भी चुनाव को देखते हुए अहम माना जा रहा है। 

Edited By: Mangal Yadav