नई दिल्‍ली/रायपुर (नई दुनिया)। आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल रविवार को पहली बार छत्तीसढ़ दौरे पर आए। रायपुर के सांइस कॉलेज मैदान में आप की बदलबो छत्तीसगढ़ संकल्प सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली की तरह छत्तीसगढ़ में ईमानदार सरकार चाहिए तो चाबी जनता के पास ही है। दो राष्ट्रीय दल भाजपा और कांग्रेस से परेशान दिल्ली की जनता को विकल्प मिला और उसने करिश्मा कर दिखाया। अब छत्तीसगढ़ की जनता की बारी है।

उन्होंने यह भी साफ कर दिया कि यहां उनकी कोई औकात नहीं है, न ही उनकी पार्टी के पास पैसा है, इसलिए आम आदमी पार्टी का चुनाव गरीब जनता को मिलकर लड़ना है।

बदलबो छत्तीसगढ़ संकल्प यात्रा के समापन में आए केजरीवाल ने कहा कि प्रदेशभर से हजारों लोग उन्हें सुनने नहीं आए हैं। वे बहुत छोटे आदमी हैं। लोग छत्तीसगढ़ की मौजूदा सरकार को उखाड़ फेंकने आए हैं।

उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ ऐसा राज्य है, जिसे भगवान ने लोहा, कोयला, हीरा सब कुछ दिया है, उसके बाद भी यहां के किसान आत्महत्या कर रहे हैं। लाखों युवा बेरोजगार भटक रहे हैं। सरकारी स्कूल और अस्पताल बदहाल हैं। इससे ज्यादा शर्म की बात नहीं हो सकती।

केजरीवाल ने कहा कि परेशान जनता ने सरकार बदलने का मन बना लिया है। पिछले चुनाव में यहां की जनता के पास विकल्प नहीं था। इस बार जनता के सामने एक ईमानदार पार्टी विकल्प के तौर पर है।

भाजपा सरकार की गोद में बैठी है कांग्रेस

केजरीवाल ने अपील की, गरीब जनता अपना वोट न बंटने दें, क्योंकि सबको पता है कि कांग्रेस तो भाजपा सरकार की गोद में बैठी है। केजरीवाल ने अजीत जोगी को भी निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि जब सरकार 14 साल में जोगी की जाति तय नहीं कर पाई तो उनके संबंध किसी से छिपे नहीं हैं।

By JP Yadav