नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली सरकार की ओर से बुधावर को छत्रसाल स्टेडियम में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ध्वजारोहण किया। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए चीन के आक्रामक रुख को लेकर चिंता जताई और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।

सीएम केजरीवाल के संबोधन की बड़ी बातें-

  • सभी को 74वें गणतंत्र दिवस की बहुत-बहुत बधाई। हम आजादी के 75 साल का अमृत महोत्सव भी मना रहे हैं। स्वतंत्रता सेनानियों ने जान की बाजी लगाकर हमें आजादी दिलवायी। इसे सुदृढ़ करने की जिम्मेदारी हम पर है।
  • दो बातें बहुत अहम हो जाती हैं। एक तरफ हम मीडिया में पढ़ते हैं कि हमारी सीमाओं पर चीन कुछ वर्षों से हमें आंखें दिखा रहा है। यह हम सबके लिए चिंता की बात है। हमारे सैनिक उनका मुकाबला करने में पीछे नहीं हैं, लेकिन हमारा भी फर्ज बनता है कि उनका साथ दें और चीन को कड़ा संदेश दें। उनके सामान का बहिष्कार करें।
  • चीनी सामना का बहिष्कार करने की बजाय हम उनके साथ व्यापार बढ़ाए जा रहे हैं। 2020 में 65 बिलियन और 2021 में 95 बिलियन डॉलर का सामान खरीदा गया। यह बड़े दुख की बात है। इससे हम तो चीन को और मजबूत बना रहे हैं। हमें अपनों की चिंता नहीं, हम चीन को मालामाल बना रहे हैं।
  • जो सामान हम उनसे खरीद रहे हैं, यह सब हमारे यहां भी बन सकता है और बना भी रहे हैं। इससे अपने लोगों को रोजगार मिलेगा। चीन को भी एकता के जरिये सबक सिखा सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि पिछले कुछ सालों से करीब 12 लाख व्यापारी केंद्र सरकार की नीतियों से परेशान होकर देश छोड़ गए। 
  • दूसरी बात, जनता सुप्रीम है। जनता की सरकारें सुप्रीम है लेकिन पिछले कुछ सालों से उन्हें दबाया जा रहा है। पंजाब का नाम लिए बगैर कहा कि वहां की सरकार ने विधानसभा सत्र बुलाने की बात कही लेकिन राज्यपाल ने मना कर दिया। कई राज्यों में वहां की सरकारें अपनी मर्जी से कुछ भी नहीं कर सकती। कई जगह सरकारों को परेशान किया जा रहा है।
  • पिछले सात आठ सालों में दिल्ली में हमने बहुत काम किया। केंद्र की रिपोर्ट भी कहती है कि दिल्ली में सबसे कम महंगाई है। दिल्ली में महंगाई की दर सिर्फ 3 प्रतिशत है। यहां बिजली, पानी, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा मुफ्त है। महिलाओं की बस यात्रा, बुजुर्गों की तीर्थ यात्रा और राशन भी फ्री है।
  • मेरी केंद्र सरकार से अपील है कि पिछले एक साल में खाने पीने की कई चीजों पर जीएसटी लगा दिया गया। दूध-दही भी महंगी हो गई। इन चीजों से जीएसटी हटाई जाए।
  • जीएसटी की जटिल प्रक्रिया को सरल करके व्यापारियों की मदद करनी चाहिए। अभी तीन-चार दिन पहले मैं तेलंगाना गया था। वहां सभी की आंखों का मुफ्त चेकअप किया जा रहा है। चार करोड़ लोगों की चिंता सरकार कर रही है। हम भी दिल्ली में ऐसा करेंगे।
  • हमें एक-दूसरे से सीखना चाहिए। हमारे स्कूल, मोहल्ला क्लीनिक दूसरे राज्यों में भी शुरू किए जा रहे हैं। हम विदेशों से क्यों नहीं सीखते?
  • हम आपस में सीखते नहीं, लड़ते हैं। अब तो न्यायपालिका से भी लड़ने लगे हैं।
  • छात्रों, किसानों और व्यापारियों से लड़ रहे हैं।
  • दिल्ली के लोगों के लिए कुछ खुशखबरी भी है कि दिल्ली देश का सबसे बड़ा स्टार्ट अप कैपिटल बन गया है। दिल्ली ईवी कैपिटल भी बन गई है। दिल्ली देश का ग्रीन कैपिटल भी बन गया है।
  • दिल्ली एजुकेशन कैपिटल भी बन गई है। पूरे देश के टॉप 10 सरकारी स्कूलों में 5 दिल्ली के हैं। दिल्ली सरकार 25 प्रतिशत बजट शिक्षा पर खर्च करती है।
  • सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की संख्या 14.5 लाख से 18 लाख पहुंच गई है।
  • दिल्ली देश का हेल्थ कैपिटल भी बन गई है। यहां एक हजार लोगों पर तीन डॉक्टर हैं।
  • पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा सीसीटीवी कैमरे दिल्ली में लगे हैं। 

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट