नई दिल्ली, जागरण संवाददाता/एएनआइ। दिल्ली-एनसीआर में मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। ठंड ने दस्तक दे दी है। बृहस्पतिवार सुबह लोग हाफ स्वैटर में नजर आए तो छात्र-छात्राएं गर्म कपड़ों में स्कूल पहुंचे। वहीं, सुबह से दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा और रेवाड़ी समेत अन्य इलाकों में हल्की बारिश का सिलसिला जारी है। इससे ठंड में इजाफा हुआ है। बताया जा रहा है कि इस बारिश से प्रदूषण से भारी राहत मिलने की उम्मीद है। 

दिल्ली के साथ  झज्जर, फर्रूखनगर, मानेसर, बावल, गुरुग्राम, रेवाड़ी, कुरुक्षेत्र, दादरी, भिवानी, नारनौल, महेंद्रगढ़, अलवर, पिलानी, कोसली में सुबह से हल्की बूंदाबांदी हो रही है। 

वहीं, दिल्ली-एनसीआर के वायु गुणवत्ता स्तर (Air Quality Index) में बुधवार की तुलना में बृहस्पतिवार को इजाफा हुआ है। जहां बुधवार को AQI 200 से भी नीचे आ गया था, वहीं बृहस्पतिवार को 200 के पार चला गया है। इंडिया गेट पर 245 तो आरके पुरम में 198 रहा। 

हवा ने तोड़ी प्रदूषण की अकड़, पहुंचा खराब श्रेणी में

इससे पहले बुधवार को दिल्ली-एनसीआर वासियों ने करीब दस दिन बाद खुलकर सांस ली। पश्चिमी विक्षोभ से बने तेज हवा ने पराली के धुएं को हटाकर दिल्ली को प्रदूषण से राहत दिलाई। हालांकि पराली अब भी जलाई जा रही है, लेकिन तेज हवा के कारण इसका धुआं टिक नहीं पा रहा। वायु प्रदूषण अब खराब स्तर तक आ चुका है। बृहस्पतिवार को हवा का दक्षिणी रुख रहेगा, इसलिए वायु प्रदूषण स्तर कम ही रहेगा। शुक्रवार को हवा की दिशा में परिवर्तन होने से इसमें आंशिक वृद्धि हो सकती है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सीपीसीबी (सीपीसीबी) द्वारा जारी एयर बुलेटिन के अनुसार बुधवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) सिर्फ 216 रहा। एनसीआर के शहर भी अपेक्षाकृत कम प्रदूषित नजर आए। फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 205, गाजियाबाद का 294, ग्रेटर नोएडा का 247, गुरुग्राम का 168 और नोएडा का 237 रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार बृहस्पतिवार को हवा इससे भी अधिक साफ हो सकती है। हल्की बारिश और तेज हवा की वजह से प्रदूषण स्तर सामान्य स्तर पर पहुंच सकता है। प्रदूषण में आई कमी की वजह इस समय हवा का दिशा बदल लेना, तेज धूप और तेज हवा है, जिसके कारण प्रदूषक तत्वों को हवा में जमने की जगह नहीं मिल रही है।

सफर के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ से दिल्ली की ओर आने वाली तेज हवा के कारण प्रदूषण स्तर में अप्रत्याशित कमी आई है। प्रदूषण स्तर में बुधवार की कमी को मंगलवार को आंका नहीं जा सका। लेकिन तेज हवा से प्रदूषण में कमी आई। इस कारण मंगलवार के बहुत खराब स्तर में सुधार हुआ और बुधवार को खराब की श्रेणी में आ गया।

आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में आज पीएम 10 का स्तर 170 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा जो ठीक श्रेणी है। पीएम 2.5 का स्तर 101 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर रहा जो खराब श्रेणी में है। बृहस्पतिवार को और सुधार के साथ पीएम 10 का स्तर 148 और पीएम 2.5 का स्तर 88 पर रहने का अनुमान है।

पराली का धुआं तीन फीसद पर सिमटा

सफर इंडिया के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट की सख्ती के बावजूद मंगलवार को भी पंजाब में पराली जलाने के कारण 6,668 मामले सामने आए। लेकिन, यह हवा की दिशा बदलने और रफ्तार बढ़ने का असर ही था कि बुधवार को पराली के धुएं की हिस्सेदारी घटकर तीन फीसद रह गई। बृहस्पतिवार को दो फीसद पहुंच जाने की संभावना है।

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस