नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब श्रेणी में बनी हुई है। वायु गुणवत्ता एवं मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली (SAFAR) के मुताबिक आज सोमवार सुबह वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 372 (बहुत खराब श्रेणी में) श्रेणी में दर्ज किया गया है।

निर्माण कार्यों पर फिर रोक

ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (ग्रेप) के पहले व दूसरे चरण की सख्ती के बावजूद दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण की रोकथाम में खास सफलता नहीं मिली। दिल्ली के ज्यादातर क्षेत्रों में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंचने के कारण शनिवार शाम वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) की आपात बैठक हुई।

इसमें कहा गया है कि अभी अगले कई दिन तक दिल्ली में हवा की गुणवत्ता गंभीर या बेहद खराब श्रेणी में रह सकती है। आयोग की उप समिति ने दिल्ली-एनसीआर में ग्रेप के तीसरे चरण के तहत नौ सूत्रीय एक्शन प्लान को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया है। इसके तहत निर्माण कार्य, तोड़फोड़, ईंट भट्ठे, हाट मिक्स प्लांट के संचालन पर फिर रोक लगा दी गई है। इससे पूर्व ग्रेप का तीसरा चरण 29 अक्टूबर को लागू किया गया था और 14 नवंबर को हटाया गया था।

एक माह बाद दिल्ली की हवा फिर हुई जहरीली

दिल्ली में एक माह बाद एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआइ) 400 से ऊपर यानी गंभीर श्रेणी में पहुंच गया। इससे पूर्व चार नवंबर को यह 447 रहा था। दिल्ली के 19 इलाकों की हवा भी दमघोंटू ही रही। एनसीआर के शहरों में ग्रेटर नोएडा की हवा ‘गंभीर’ और अन्य जगहों पर ‘बहुत खराब श्रेणी’ में रिकार्ड की गई।

सफर इंडिया का पूर्वानुमान है कि तीन दिन तक हवा की गुणवत्ता गंभीर तो नहीं, बहुत खराब अवश्य रहेगी। धीमी हवा चलने व स्थानीय कारकों की वजह से वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में आ जाने के कारण रविवार को दिल्ली में धुंध और धुएं की हल्की परत भी छाई रही। इससे दृश्यता कम रही। दिल्ली के वायु प्रदूषण में पराली के धुएं की हिस्सेदारी केवल एक प्रतिशत थी। स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष महेश पलावत ने बताया कि अगले दो-तीन दिनों में स्थिति में सुधार के आसार नहीं हैं।

रविवार को सामान्य स्तर पर रहा दिल्ली का तापमान

सप्ताह भर तक दिल्ली का मौसम करीब करीब ऐसा ही बना रहेगा, जैसा अभी चल रहा है। सुबह-शाम के वक्त ठंड का एहसास बरकरार रहेगा जबकि दिन के समय धूप राहत देती रहेगी। इस दौरान जहां अधिकतम तापमान 25 डिग्री वहीं न्यूनतम तापमान सात से आठ डिग्री के आसपास रहेगा।

रविवार को भी सुबह- शाम ठंडक और दिन के समय धूप खिलने से राहत का दौर बरकरार रहा। न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर पर 9.0 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान सामान्य स्तर पर 25.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हवा में नमी का स्तर 97 से 49 प्रतिशत रहा। सबसे कम न्यूनतम तापमान 8.8 डिग्री की दृष्टि से लोधी रोड जबकि सबसे कम अधिकतम तापमान 23.6 डिग्री के लिहाज से मुंगेशपुर सबसे ठंडा इलाका रहा।

मौसम विभाग का अनुमान है कि सोमवार को भी आसमान साफ रहेगा। सुबह के समय धुंध होगी। अधिकतम एवं न्यूनतम तापमान क्रमश: 26 और आठ डिग्री रहने की संभावना है। मंगलवार से दिन का तापमान 25 डिग्री आ जाएगा। यानी दिन के समय भी ठंड के एहसास में थोड़ी और वृद्धि हो सकती है।

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट