नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Delhi NCR Pollution 2019 : दिल्ली-एनसीआर की हवा पिछले कुछ दिनों के दौरान से एक बार फिर दमघोंटू हो गई है। शनिवार को भी हालात खराब हैं। इससे पहले हवा की रफ्तार मंद पड़ने और कोहरे के प्रभाव से शुक्रवार को एयर क्वालिटी इंडेक्स 400 का आंकड़ा पार कर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया। हैरानी की बात यह कि आसमान पर स्मॉग की चादर तो नजर आने ही लगी है, साथ ही पहली बार पराली के धुएं का कोई खास असर न होने के बावजूद भी एयर इंडेक्स गंभीर श्रेणी में पहुंचा है।

मालूम हो कि शुक्रवार को पराली का प्रदूषण महज तीन फीसद रहा। हाल फिलहाल इस स्थिति में राहत की संभावना भी नहीं है। अगर रविवार शाम तक हवा की गति में कुछ वृद्धि हुई तो प्रदूषण के स्तर में मामूली सुधार हो सकता है। हालांकि, बड़ी राहत 11 दिसंबर को बारिश के बाद ही मिलने के आसार हैं।

इससे पहले 15 नवंबर को प्रदूषण का स्तर 458 दर्ज हुआ था। दिसंबर में यह पहला मौका है जब प्रदूषण का स्तर गंभीर हुआ है। सुबह लगभग सात बजे दिल्ली का एयर इंडेक्स 411 पहुंच गया था। दोपहर करीब 12 बजे के बाद इसमें मामूली गिरावट आई।

पराली जलाने के 145 केस सामने आए

सफर के अनुसार सप्ताह भर में पराली जलाने का सिलसिला थम जाएगा। पराली के मामलों में भी काफी कमी आ गई है। बृहस्पतिवार को पराली जलाने के महज 145 मामले सामने आए हैं। ऐसे में अगले दो दिन पराली का धुआं दिल्ली को प्रभावित नहीं करेगा। अगले तीन दिनों तक दिल्ली में सुबह के समय हवा की रफ्तार मंद रहेगी। दोपहर के समय 4 से 6 किलोमीटर प्रति घंटे होगी, जिसकी वजह से प्रदूषण स्तर में मामूली कमी होगी। उत्तर पश्चिमी भारत में पश्चिमी विक्षोभ का असर 11 दिसंबर से दिख सकता है। इसके बाद ही हवा में तेजी आएगी।

दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक 

Posted By: JP Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस