नोएडा [जेएनएन]। बरौला गांव में संदिग्ध हालत में हुई दो सगी बहनों की पेड़ से लटककर मौत की गुत्थी सुलझाना पुलिस के लिए चुनौती बन गई है। सोमवार रात जिस कमरे में दोनों बहनें सोईं थीं उसी कमरे में उनके माता-पिता और छोटा भाई सहित परिवार के कुल छह लोग भी सो रहे थे। दोनों बहनें कब और कैसे कमरे से बाहर निकलीं किसी को पता नहीं लग सका। मृतक बहनों की मां ने एसएसपी लव कुमार को बताया है कि मंगलवार तड़के करीब तीन बजे दोनों कमरे में मौजूद थीं, जबकि उसके पिता ने कहा कि सुबह करीब पांच बजे जब उनकी नींद खुली तो देखा कि दोनों बिस्तर पर नहीं थीं और कमरे में बाहर से कुंडी बंद थी।

प्रेमसंबंध से नाराज होकर बेटी का मोबाइल पिता ने छीन लिया था 

मृतक लड़कियों के पिता ने बताया कि उनकी छह बेटी व एक बेटा है। दो बेटियों की शादी हो चुकी है। दो बेटियां घरों में मेड का काम करती थीं और वहीं रहती थीं। कुछ दिन पहले मृतक 18 वर्षीय बेटी छुट्टी लेकर घर आई थी। कुछ दिन रहने के बाद वह काम पर वापस जाने की बात कहकर घर से निकली थी, लेकिन वहां नहीं पहुंची।

मकान मालकिन का जब उनके पास फोन आया तो जानकारी हुई। इसके बाद फोन करने पर पता लगा कि वह मुंबई में रहने वाले एक युवक के पास चली गई है। युवक बुलंदशहर का रहने वाला है और वह रिश्ते में उसका भाई लगता है। फोन पर काफी बातचीत करने पर वहां से वह युवक के साथ ही नोएडा आई। इस दौरान घर पर काफी कहासुनी हुई थी और दोनों एक साथ रहने की बात कह रहे थे।

काफी समझाने पर युवक वहां से जम्मू जाने की बात कहकर चला गया था। युवक के जाने के अगले दिन उसके परिवार के चार-पांच लोग उनके पास पहुंचे और उन्हें धमकाना शुरू कर दिया। इसके बाद से ही युवती का मोबाइल फोन उसके पिता ने ले लिया था। एसपी सिटी ने कहा कि लड़की के पिता का कहना है कि उसका मोबाइल तोड़कर फेंक दिया था।

मृतक किशोरी का बहन से हुआ था विवाद 

एसपी सिटी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि मृतक किशोरी की एक शादीशुदा बड़ी बहन पिछले कुछ माह से इन लोगों के पास ही रहती है। करीब एक सप्ताह पहले मृतक किशोरी व उसकी बहन के बीच काफी विवाद व मारपीट हुई थी। जिसे छुड़ाने के लिए पड़ोसी महिलाओं को आना पड़ा था।

10 से 12 फीट की ऊंचाई पर लटके थे दोनों शव 

घर की सीढ़ी के पास मौजूद 10 से 12 फीट की ऊंचाई पर पेड़ की अलग-अलग टहनी से दोनों बहनों का शव लटके मिले। कैंपस में ही मौजूद एक कमरे में रहने वाली महिला जब सुबह करीब साढ़े पांच बजे बाहर निकली तो देखा कि पेड़ से शव लटके हैं। शोर मचाने पर आस-पास के लोग पहुंचे और फिर वहां रहने वाले उदल नाम के युवक ने मकान मालिक के घर पहुंच जानकारी दी।

उदल ने बताया कि शव देखकर वह लोग परिवार को काफी देर तक बुलाने की कोशिश करते रहे लेकिन घर से जब कोई आवाज नहीं आई, डर की वजह से कोई कमरे तक नहीं गया और मकान मालिक को जानकारी दी। मकान मालिक ने बताया कि करीब चार माह पहले ही यह परिवार उनके मकान में किराए पर रहने के लिए आया था। 

यह भी पढ़ें: नोएडा: पेड़ से लटकी मिली दो बहनों की लाश, हत्या-आत्महत्या के बीच उलझी गुत्थी

यह भी पढ़ें: वीरेंद्र देव के आश्रम में कैसे पहुंचीं इतनी महिलाएं, यहां मिल सकता है जवाब
 

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस