मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। Article 370 abolish in jammu and kashmir: जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने की सिफारिश का दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने स्वागत किया है। ट्वीटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को बधाई देते हुए स्वाति ने कहा कि आज का दिन इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिखा जाएगा।

स्वाति जयहिंद ने ट्वीटर पर लिखा, 'अनुच्छेद 370 ख़त्म! जो कश्मीर से कन्याकुमारी तक अखंड भारत का सपना हमारे पूर्वजों ने देखा, वो पूरा हुआ'। इस सकारात्मक कदम पर राजनीतिक इच्छाशक्ति दिखाने के लिए पीएम मोदी और अमित शाह का दिल से बधाई।

केजरीवाल ने भी की मोदी सरकार की तारीफ
जम्‍मू और कश्‍मीर में अनुच्‍छेद 370 हटाने को लेकर राज्यसभा में सोमवार को पेश हुए प्रस्ताव पर आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी सहमति जताई है। केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार के इस फैसले का AAP समर्थन करती है। उन्होंने कहा कि उम्मीद करते हैं कि सरकार के इस फैसले से राज्‍य में शांति आएगी और वहां विकास होगा।

कुमार विश्वास भी मोदी सरकार के समर्थन में उतरे
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) द्वारा सो राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने की सिफारिश का प्रस्ताव पेश करने पर आम आदमी पार्टी के बागी नेता कुमार विश्वास ने लगातार चार ट्वीट किए हैं। इसमें उन्होंने कहा कि यह एतिहासिक क्षण है, तो वहीं जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती पर भी जबरदस्त तंज कसा है। उन्होंने ट्वीट किया है- 'आज ही धंधा बंद हुआ और आज ही बुआ और महबूबा के ये भतीजे कपड़े फाड़कर भिखारी भी हो गए।'

केंद्र सरकार ने हटाया जम्मू-कश्मीर से Article 370
बता दें कि सोमवार को राज्‍यसभा में गृहमंत्री अमित शाह ने जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद 370  व 35(ए) को हटाने का प्रस्‍ताव रखा। इसके अनुसार, जम्‍मू-कश्‍मीर को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिया गया। लद्दाख भी अलग केंद्र शासित प्रदेश बनेगा। जम्‍मू कश्‍मीर पुनर्गठन विधेयक को लोकसभा में मंगलवार को पेश किया जाएगा। 

केंद्र के समर्थन में कई दल
केंद्र की भाजपा सरकार कई ऐतिहासिक फैसले का कई दलों ने भी समर्थन किया है। बसपा, बीजद, AIADMK ने जम्मू-कश्मीर से Article 370 हटाने का समर्थन किया है। इसके बाद से दशकों से चली आ रही विवादित व्‍यवस्‍था बदलने वाली है। इस कानून के बाद अब जम्‍मू-कश्‍मीर दिल्ली की तरह केंद्र शासित प्रदेश बन जाएगा और वहीं लद्दाख भी अलग केंद्र शासित प्रदेश बनेगा।

जम्‍मू कश्‍मीर में ये बदलाव होंगे
- इसका अलग झंडा नहीं होगा
-कश्‍मीर में अन्‍य राज्‍यों से लोग ले सकेंगे जमीन
-दोहरी नागरिकता होगी खत्‍म

 दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप