नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। सोनिया विहार इलाके में दिलदहलाने वाली वारदात सामने आई है। बुधवार सुबह एक युवक ने हनुमान मंदिर के अंदर गदा से ताबड़तोड़ वार कर बुजुर्ग पुजारी की हत्या कर दी। गदा के टूटने तक आरोपित वार करता रहा, इसके बाद एक लकड़ी उठाकर उनके पेट में घुसा दी। जान बचाने के लिए पुजारी मंदिर के बाहर भागे तो आरोपित ने पीछा कर उन्हें पकड़ लिया और वहां भी लकड़ी से उनपर वार कर दिए।

पार्क में सैर के लिए आई कुछ महिलाओं ने पुजारी को बचाने की कोशिश की तो आरोपित ने उनपर भी लकड़ी से हमला कर दिया, जब मौके पर भीड़ जुटी तो लोगों ने आरोपित को पकड़कर बुरी तरह से पीट दिया। घायल पुजारी को जग प्रवेश चंद अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां से उन्हें जीटीबी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। मृतक की पहचान सोमई राम (62) के रूम में हुई है।

पिटाई से घायल हुए आरोपित सोनू भट्ट को ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया, जहां उसका इलाज चल रहा है। पुलिस हत्या सहित कई धाराओं में केस दर्ज कर जांच कर रही है। शुरुआती जांच में पुलिस को पता चला कि आरोपित मानसिक रूप से कमजोर है, उसने पुजारी से कुछ रुपये मांगे थे।

पुजारी के इन्कार करने पर उसने हत्या कर दी। मूलरूप से उत्तर प्रदेश के जिला प्रतापगढ़ के उदयपुर गांव के रहने वाले सोमई राम अपने परिवार के साथ सोनिया विहार तीसरे पुश्ते पर रहते थे। परिवार में बेटा पत्नी फूलवती, तीन शादीशुदा बेटे धर्मेंद्र, राजाराम व अनिल व अन्य सदस्य हैं। सोनिया विहार ढाई पुश्ता पर एक हनुमान मंदिर है, उसके पीछे एक अखाड़ा बना हुआ है। पास ही एक पार्क है।

सोमई राम पहलवान भी थे। खलीफा के रूप में कई वर्ष तक लोगों को अखाड़े में पहलवानी सिखाई, उम्र ज्यादा होने पर दस वर्ष पहले वह अखाड़े में बने मंदिर में पुजारी बन गए। अखाड़े के खलीफा मनदीप ने बताया की पुजारी रोज सुबह साढ़े चार बजे मंदिर आ जाते थे। पहले साफ सफाई करते थे, साढ़े पांच बजे उनके साथ आरती करते थे। जिसमें अखाड़े के पहलवान व स्थानीय लोग हिस्सा लेते थे। पिछले एक सप्ताह से एक अंजान युवक सुबह के वक्त मंदिर आ रहा था, अपनी मर्जी से कभी साफ सफाई करता तो कभी बैठा रहता। बुधवार सुबह पुजारी ने मंदिर खोला, उनके अलावा वहां कोई नहीं था।

करीब पांच बजे के आसपास युवक सोनू भट्ट मंदिर आया था। पुलिस को जांच में पता चला कि युवक ने बुजुर्ग पुजारी से कुछ रुपये मांगे, पुजारी ने देने से इन्कार कर दिया। इस बात से युवक नाराज हो गया, हनुमानजी की मूर्ति के पास रखे एक बड़े गदा को उठाया और पुजारी पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। इतने वार किए की गदा टूट गया, इसके बाद मंदिर के अंदर पड़ी एक लकड़ी को उठाकर पुजारी के पेट में घुसा दी।

जान बचाने के लिए पुजारी मंदिर से निकल कर पार्क में भागे, आरोपित ने वहां भी उनपर हमला कर दिया। पार्क में सैर कर रही महिलाओं ने पुजारी को बचाने की कोशिश तो आरोपित ने उनपर भी हमला कर दिया। जब ज्यादा लोग पार्क में जुटे तो उन्होंने आरोपित को पकड़कर बुरी तरह से पीट दिया।

दोनों घायलों को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां बुधवार रात पुजारी की मौत हो गई। पुलिस आरोपित के घर वालों का पता लगा रही है, आरोपित सोनिया विहार में ही रहता है। कभी भीख मांगता है तो कभी किसी कबाड़ के गोदाम में मजदूरी करता है

Edited By: Vinay Kumar Tiwari