नई दिल्ली [राकेश कुमार सिंह]। बेहतर रिटर्न का झांसा देकर 65 गृहणियों से 30 लाख रुपये ठगी करने के मामले में आर्थिक अपराध शाखा ने एक दंपती को गिरफ्तार किया है। आरोपितों ने जय माता किटी नाम से बनाई गई योजना में गृहणियाें को हर माह एक-एक हजार रुपये निवेश करने के लिए प्रेरित किया था और 20 माह बाद उन्हें बेहतर रिटर्न देने का दावा किया था। पैसा रिटर्न करने से पहले प्रत्येक सदस्य को हर माह विभिन्न प्रकार के आकर्षक गिफ्ट देने की भी घोषणा की गई थी। आजादपुर स्थित अंगिथि रेस्तरां में बार-बार मीटिंग आयोजित कर व पार्टियां देकर आरोपितों ने गृहणियों को झांसे में ले लिया था, जिसके बाद महिलाओं ने निवेश करना शुरू कर दिया था। मोटी रकम मिलते ही दंपती अपना घर बेच मोबाइल बंद कर फरार हो गया था।

आर्थिक अपराध शाखा के मुताबिक गिरफ्तार किए गए आरोपितों के नाम बबीता बस्सी व दीपक कुमार बस्सी है। दोनों पति-पत्नी है और केवल पार्क एक्सटेंशन, आजादपुर में परिवार के साथ रहते थे। रामा रोड, आदर्श नगर की रहने वाली नेहा गुप्ता ने आठ जुलाई 2020 को आर्थिक अपराध शाखा में दंपती के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। जांच में 65 से अधिक शिकायतकर्ता पाए गए जिनमें कुछ पीड़ित ही जांच में शामिल हुए। उनसे 30 लाख रुपये ठगी करने की बात सामने आई।

आरोपितों ने आदर्श नगर में जय माता किटी नाम से शुरू की गई योजना में महिलाओं को निवेश करने के लिए प्रेरित किया था। पीड़ितों की गाढ़ी कमाई लेकर दोनों आदर्श नगर स्थित अपना घर बेच अज्ञात स्थान पर रहने लगे थे। जांच पड़ताल के बाद पुलिस टीम ने 20 मई को बबीता और उसके पति दीपक कुमार बस्सी को उत्तम नगर से गिरफ्तार कर लिया।

बबीता 10वीं पास है और दीपक कुमार बस्सी ने वेल्डर ट्रेड में आईटीआई किया है। पहले दोनों आदर्श नगर स्थित अपने घर से हथकरघा बेचती थी और बाद में उसने हथकरघा का सामान खरीदने के लिए उसकी दुकान पर आने वाली महिलाओं को प्रेरित कर किटी योजना शुरू की। जय माता किटी शुरू करने का विचार बबीता का था क्योंकि उसने अपने निजी पैसे को स्थानीय क्षेत्र में चल रही अन्य किटी में निवेश करके मुनाफा कमाया था। उसके बाद उसने अपनी खुद की किटी शुरू की और स्थानीय महिलाओं को इसमें नामांकित करने के लिए प्रेरित किया।

Edited By: Prateek Kumar