नई दिल्ली [रीतिका मिश्रा]। दिल्ली नगर निगम के शिक्षकों ने 16 अगस्त से ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए छात्रों को नहीं पढ़ाने का ऐलान किया है। शिक्षक न्याय मंच नगर निगम के अध्यक्ष कुलदीप सिंह खत्री ने बताया कि शिक्षकों को समय पर सैलरी नहीं दी जाती और न ही ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए पढ़ाने के लिए निगम प्रशासन द्वारा फोन खरीदने और ठीक करवाने के रुपए मिलते हैं और न ही इंटरनेट का खर्च मिलता है। 

आर्थिक तंगी से परेशानी

इससे कई शिक्षकों को आर्थिक तंगी के चलते कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। इसलिए वह इस आंदोलन को कर रहे हैं। उनके साथ इस आंदोलन में नगर निगम शिक्षक संघ व अन्य संगठन मिलकर शिक्षकों के हित के लिए आगे आए हैं। उनके मुताबिक जब तक शिक्षकों की समस्याओं का हल नहीं होता तब तक ऑनलाइन कक्षाओं के जरिए शिक्षक नहीं पढ़ाएंगे।

जाकिर हुसैन कॉलेज के प्रोफेसर से ठगी

इधर, दरियागंज थाना क्षेत्र में उर्दू के एक प्रोफेसर से ठगी का मामला सामने आया है। ठग ने खुद को बैंक अधिकारी बता डेबिट कार्ड ब्लाक होने की बता बताई। जिससे प्रोफेसर सकते में आ गए। वहीं, ठग के कहने पर उन्होंने फोन पर आया ओटीपी नंबर उसे दे दिया। जिसके बाद ठग ने प्रोफेसर के खाते से दो बार में 99,998 रुपये निकाल लिए।

पीड़ित की शिकायत पर दरियागंज थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्रोफेसर मजहर अहमद परिवार के साथ दिल्ली गेट इलाके में रहते हैं। वह जाकिर हुसैन कॉलेज में उर्दू के प्रोफेसर हैं। जुलाई महीने में एक अंजान नंबर से उनके मोबाइल पर फोन आया था। उनका कैनरा बैंक में खाता है। फोन करने वाले ने खुद का परिचय बैंक के मैनेजर के रूप में दिया। उसने बताया कि प्रोफेसर का डेबिट कार्ड बंद होने वाला है। कार्ड को ब्लॉक होने से रोकने के लिए उन्हें खाते की जानकारी और ओटीपी बताना पड़ेगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप