नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। लालकिला पर लगे मेले को कोरोना की नजर लग गई है। आलम यह है कि सभी तरह के मनोरंजन के साधन होने के बावजूद लोग यहां आने से बच रहे हैं। व्यापारियों को डर सताने लगा है कि कहीं घाटा न हो जाए। अब सभी बस किसी तरह स्टॉल लगाने के लिए दी रकम के बराबर कमाई की कोशिश कर रहे हैं।

लालकिले पर पहली बार होली के मौके पर 29 फरवरी से मेला लगा है। मेला अरविंद जैन ने लगवाया है, जो मेरठ से लेकर फरीदाबाद के सूरजकुंड तक मेला लगाते हैं। इस मेले को होली मंगल मिलन का नाम दिया गया।

सीलमपुर के रहने वाले एहसान अहमद ने मेले में सजावटी सामान का स्टॉल लगाया है। उन्होंने बताया कि इससे ज्यादा सामान तो सड़क किनारे बिक जाता है। अब तो बस कोशिश है कि किसी तरह स्टॉल लगाने के लिए दी गई रकम के बराबर खर्च निकल आए। मेरठ से आए सचिन हंसी घर में काम करते हैं। सचिन ने बताया कि बहुत बुरा हाल है। लोग एकदम नहीं आ रहे।

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) ने अपना स्थापना दिवस समारोह का कार्यक्रम स्थगित कर दिया है। 13 मार्च को इंदिरापुरम स्थित पांचवीं आरक्षित बटालियन में देश-विदेश से अतिथि और सभी बटालियन के अधिकारी व जवान आने वाले थे। इस बार कार्यक्रम में गृहमंत्री अमित शाह को बतौर मुख्य अतिथि आमंत्रित किया गया था।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस