नई दिल्‍ली, जागरण संवाददाता। दिल्‍ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं। शुक्रवार को दिल्‍ली में 1106 केस सामने आने से स्‍वास्‍थ्‍य विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई जानकारी दी। मनीष सिसोदिया ने कहा कि  कोरोनावायरस से घबराने की जरूरत नहीं।  सतर्क होना ज़रूरी, लेकिन पैनिक की ज़रूरत नहीं।

69 मौत के मामले पुराने थे वो जुड़े हैं

उन्‍होंने बताया कि पिछले 34 दिन में 69 मौतें हुई थीं, जिसमें 52 सफ़दरजंग के थे। आज 82 डेथ एक्स्ट्रा दिखेंगी।कोरोना के मरीज़ बढ़ रहे हैं, लेकिन 50% मरीज़ ठीक भी हुए हैं। मौत के आंकड़ों पर कहा कि यह लेट रिपोर्टिंग के कारण हुई है। उन्‍होंने आगे कहा कि हल्के फुल्के लक्षण में डॉक्टर के यहां जाने की ज़रूरत नहीं।

80-90% लोग होम क्वारन टाइन में ठीक हो रहे हैं

वहीं सत्‍येंद्र जैन ने कहा कि पैनिक की बिल्कुल ज़रूरत नहीं।  दिल्ली में 17,386 केस हैं।  1106 नए केस आज आए हैं। वहीं ठीक होने वाले लोगों का आंकड़ा भी अच्‍छा है। कुल  351 लोग 24 घंटे में ठीक हुए हैं। अब  हमारे पास 5000 बेड हो गए हैं। इनमें से  3700 सरकारी में हैं और 1300 प्राइवेट बेड हैं।  दिल्ली में लगातार दूसरे दिन 1000 से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। इधर, कुल 398 मौत हुई हैं अब तक।

पालिका केंद्र और भगत सिंह प्लेस 48 घंटे के लिए सील

इधर, नई दिल्ली नगरपालिका परिषद के लेखा विभाग और कमर्शियल विभाग में काम करने वाले कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद संसद मार्ग स्थित पालिका केंद्र और गोल मार्केट स्थित शहीद भगत सिंह प्लेस को 48 घंटे के लिए सील कर दिया है। दोनों भवनों को बृहस्पतिवार को सैनिटाइज किया गया। एनडीएमसी के चार कर्मचारियों को बुधवार को संक्रमण की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद पहले छठे फ्लोर को सील करने का आदेश दिया था, लेकिन बृहस्पतिवार को पूरा कार्यालय सील करने का फैसला ले लिया गया।

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस