नई दिल्ली [जेएनएन]। राफेल विमान सौदे में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने शनिवार को कनॉट प्लेस में प्रदर्शन किया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन के नेतृत्व में प्रदर्शनकारियों ने राफेल विमान के प्रतिरूप के साथ परेड की। उन्होंने केंद्र सरकार से विमान सौदे की पूरी जानकारी सार्वजनिक करने की मांग की।

परेड की सलामी ली

माकन और प्रदेश प्रभारी पीसी चाको ने प्रदर्शनकारियों की परेड की सलामी ली। प्रदर्शनकारियों के हाथों में राफेल विमान सौदे के विरोध में नारे लिखे प्लेकार्ड थे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राफेल सौदे में बाहरी और आंतरिक सुरक्षा को ताक पर रखा गया है। हिंदुस्तान एरोनॉटिकल लिमिटेड (एचएएल) की जगह 12 दिन पहले पंजीकृत हुई अंबानी की कंपनी को इसका काम दे दिया गया है। सरकार अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकती है। इसके खिलाफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में पूरे देश में आंदोलन किया जा रहा है। कांग्रेस नेता ने कहा कि कि जब मनमोहन सिंह सरकार ने रक्षा सौदों की जानकारी संसद में दी थी तो फिर नरेंद्र मोदी सरकार ऐसा क्यों नहीं कर रही? देश के नागरिकों को राफेल विमानों की लागत जानने का पूरा अधिकार है। 

प्रदर्शन में कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव नसीब सिंह, पूर्व सासद सज्जन कुमार, महाबल मिश्रा और रमेश कुमार, प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष शर्मिष्ठा मुखर्जी, दिल्ली के पूर्व मंत्री हारुन यूसुफ, डॉ. नरेंद्र नाथ, नगर निगम में काग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल, पूर्व विधायक मुकेश शर्मा, भीष्म शर्मा, तरविंदर सिंह मारवाह, विजय लोचव, सुरेंद्र कुमार, कांग्रेस नेता चतर सिंह, महमूद जिया, मेजर वेद प्रकाश, जिला अध्यक्ष विरेंद्र कसाना, मदन खोरवाल, प्रदीप शर्मा, हरी किशन जिंदल, मोहम्मद उस्मान, राजेश चौहान, विष्णु अग्रवाल, गुरचरण सिंह राजू, दिनेश कुमार और वरयाम कौर मौजूद थीं।

कांग्रेस का प्रदर्शन 

अजय माकन राफेल विमान सौदे को लेकर पहले भी केंद्र सरकार पर निशाना साध चुके हैं। अजय माकन ने कहा था कि राफेल विमान सौदे में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार हुआ है। कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता इस भ्रष्टाचार को जनता के सामने लाएंगे। माकन ने कहा था कि 8 से 15 सितंबर के बीच क्षेत्रीय स्तर पर विरोध प्रदर्शनों के बाद राज्य स्तर पर एक बड़ा प्रदर्शन किया जाएगा।

राहुल गांधी ने किया वार 

इसके पहले राफेल डील के मामले में लंदन से कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी भाजपा सरकार पर आरोप लगाए थे। राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर कर्ज में फंसे एक उद्योगपति को लाभ पहुंचाने के लिए करार में बदलाव करने का आरोप लगाया था। इस मुद्दे पर राहुल गांधी का समर्थन करते हुए पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भी राफेल डील की जांच की मांग की थी।  

Posted By: Amit Mishra