नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस से गठबंधन को लेकर आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने बड़ा बयान दिया है। बृहस्पतिवार को उन्होंने कहा कि पार्टी ने अंतिम समय तक कांग्रेस से गठबंधन की कोशिश की। पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने इस संबंध में कांग्रेस के नेताओं से बातचीत की थी।

गोपाल राय ने दावा किया कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन लगभग तय हो गया था। सीट बंटवारा और भी फाइनल हो गया था लेकिन कांग्रेस ने बुधवार शाम को अपने कदम पीछे क्यों खींच लिए यह मुझे नहीं मालूम।

इससे पहले बुधवार को संजय सिंह ने कहा था कि AAP गठबंधन के लिए तैयार है लेकिन कांग्रेस का मूड गठबंधन को लेकर नहीं है। यह बहुत दुखद है। कांग्रेस भाजपा को हराने के लिए कोई समझौता करने को लेकर तैयार नहीं है।

वहीं कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बृहस्पतिवार को गुरुग्राम में साफ कर दिया कि कांग्रेस का दिल्ली और हरियाणा में गठबंधन किसी भी पार्टी के साथ नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हरियाणा और दिल्ली में कांग्रेस किसी के साथ गठबंधन नहीं करने जा रही है। ऐसी बातें सिर्फ मीडिया के द्वारा ही फैलाई जा रही हैं।

बता दें कि दिल्ली में पिछले कुछ समय से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर चल अटकलें बृहस्पतिवार को खत्म हो गईं। मिली जानकारी के मुताबिक, कांग्रेस की ओर से कहा गया है कि आम आदमी पार्टी ने गठबंधन से इऩकार कर दिया है।

वहीं, दिल्ली कांग्रेस के प्रभारी पीसी चाको ने कहा है कि अब कांग्रेस दिल्ली की सभी सातों सीटों (दक्षिण दिल्ली, नई दिल्ली, चांदनी चौक, पूर्वी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली और उत्तर पश्चिमी दिल्ली) पर अपने उम्मीदवार उतारेगी।

पहले ऐसी चर्चा थी कि अगर दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ़ में कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन होता है तो हरियाणा में 6-3-1 का फॉर्मूला दिया गया था। इसके मुताबिक, कांग्रेस छह, जननायक जनता पार्टी (जजपा ) को तीन और AAP को एक सीट देने का फॉर्मूला दिया था, लेकिन कांग्रेस इस पर भी राजी नहीं थी। संजय सिंह ने बुधवार को कहा था कि हम दिल्ली में 4-3 के लिए भी राजी हो गए थे, लेकिन कांग्रेस ने कोई सकारात्मक रुख नहीं दिखाया।

दिल्ली-एनसीआर की खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस