नई दिल्ली, जेएनएन। उत्तर-पश्चिमी हवा ने दिल्ली की फिजा में ठंडक बढ़ा दी है। बृहस्पतिवार सुबह दिल्ली के साथ एनसीआर में भी लोगोें ने हल्की कंपकंपी महसूस की। स्कूल जाने वाले छात्र-छात्राएं सुबह ठंड से बचने के लिए जैकेट व स्वेटर पहने नजर आए। अगले तीन-चार दिन ऐसी ही ठंड के आसार हैं। 

इससे पहले बुधवार यानी पांच दिसंबर का दिन पिछले आठ साल के दौरान सबसे ठंडा रहा। 11 को सीजन की पहली बारिश होने की भी संभावना है। इससे ठंड के साथ कोहरा भी बढ़ेगा। बुधवार को दिल्ली का अधिकतम तापमान 25 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से एक डिग्री कम है। नमी का स्तर 40 से 97 फीसद रिकॉर्ड किया गया। अगले तीन-चार दिनों के दौरान न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस तक जा सकता है।

मौसम विभाग के मुताबिक, फिजा में बढ़ी इस ठंडक की वजह उत्तर-पश्चिम दिशा से चल रही हवा है। स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम वैज्ञानिक महेश पलावत ने बताया कि 9-10 तारीख के आसपास जम्मू-कश्मीर की ओर एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इससे वहां अच्छी बर्फबारी होने की भी संभावना है। इस बर्फबारी के कारण 11 और 12 दिसंबर से ठंड और बढ़ेगी।

प्रदूषण स्तर खराब, दो दिन तक दिक्कत

उत्तर-पश्चिमी हवा के प्रभाव से बृहस्पतिवार को भी दिल्ली एनसीआर का प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी में ही बना रहा। मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो दिन तक प्रदूषण का स्तर इसी तरह का रहेगा। इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ का असर खत्म होगा तो हवा में नमी बढ़ेगी। ऐसे में वायु प्रदूषण बढ़ने के भी आसार हैं।

बुधवार को दिन भर दिल्ली एनसीआर में हल्का स्मॉग छाया रहा। बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 331 रहा। गाजियाबाद अब भी खतरनाक स्तर का प्रदूषण झेल रहा है। बृहस्पतिवार को भी स्मॉग छाया हुआ है। 

Posted By: JP Yadav