नई दिल्ली, राज्य ब्यूरो। आम आदमी पार्टी की सरकार ने सात साल पूरे कर लिए हैं। इस मौके पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्लीवालों को बधाई देते हुए कहा कि इन सात सालों में दिल्ली हर मामले में आगे बढ़ी है, लेकिन दिल्ली सरकार का लक्ष्य इसे दुनिया की सबसे बेहतरीन राजधानी बनाने का है। इसके लिए सरकार कल्याणकारी नीतियां बनाने में जुटी हुई है।

उन्होंने कहा कि आज ही के दिन (16 फरवरी) को आप सरकार ने रामलीला मैदान में सात साल पहले पद एवं गोपनीयता की शपथ ली थी। इस बीच उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली, पानी के क्षेत्र में कई काम किए हैं। इसमें शिक्षा के क्षेत्र में तो इस बीच क्रांतिकारी बदलाव हुआ है। दिल्ली के बाद आदमी आदमी पार्टी अब पंजाब, गोवा, उत्तराखंड और सीमित तौर पर उत्तर प्रदेश में चुनावी रण में दो-दो हाथ करने उतरी है। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि पार्टी इन राज्यों में बेहतर प्रदर्शन करेगी।

सरकारी अस्पतालों में मुफ्त मिल रहा दिल्लीवालों को पूरा इलाज: मुख्यमंत्री ने दावा किया कि सरकारी अस्पतालों में इलाज व 70-80 लाख रुपये तक का आपरेशन भी मुफ्त किया जाता है। मोहल्ला क्लीनिक, पालीक्लीनिक और सरकारी अस्पतालों का तीन स्तरीय सुरक्षा चक्र हर नागरिक को दिया है। मोहल्ला क्लीनिक में 125 तरह की मुफ्त दवाइयां और 212 लैब में मुफ्त टेस्ट उपलब्ध हैं।

1155 सर्जरी के लिए सूचीबद्ध 56 निजी अस्पतालों में इलाज की सुविधा मिलती है। दिल्ली सरकार फरिश्ते दिल्ली के योजना के तहत सड़क दुर्घटना के पीड़ितों के इलाज का सारा खर्च उठाती है। पिछले पांच वर्ष में अस्पतालों में 1600 बेड बढ़ाए गए हैं, जबकि 6836 बेड क्षमता के सात नए अस्पताल बनाए जा रहे हैं। इस तरह 2025 तक दिल्ली में 20836 बेड बढ़ाए जाएंगे।

89 प्रतिशत अनधिकृत कालोनियों को मिल रहा पानी: सात वर्ष में दिल्ली में 89 प्रतिशत अनधिकृत कालोनियों को पाइपलाइन से जोड़ दिया गया है और शेष में काम चल रहा है। 706 अनधिकृत कालोनियों में सीवर और 1600 में पानी की पाइपलाइन बिछाई है। वहीं, दिल्ली वालों को हर माह 20 हजार लीटर मुफ्त पानी देने पर करीब 600 करोड़ रुपये खर्च करती है। इससे 14.5 लाख लोगों का पानी का बिल नहीं आता है। 159 झीलों व 600 जल निकायों का पुनरुद्धार किया है।

घर में मिल रहीं 300 सेवाएं: डोरस्टेप डिलीवरी योजना में 300 सेवाएं शामिल हैं। सर्वश्रेष्ठ शहरों की रेटिंग में दुनिया भर के शीर्ष 100 शहरों में शामिल होने वाला दिल्ली एकमात्र भारतीय शहर है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, दिल्ली को दुनिया की सबसे बेहतरीन राजधानी बनाने के लिए बनाई जा रहीं नीतियां। 

  • स्टार्टअप 2019-21 के बीच जोड़े, रोजगार बाजार पोर्टल लांच किया।
  • के ओलिंपिक खेलों की दिल्ली मेजबानी करे, इसके लिए खेल सुविधाएं विकसित की जा रही हैं।
  • में वृद्धावस्था पेंशन बढ़ाकर दो श्रेणियों में दो हजार और 2,500 कर दी है, जो पूरे देश में सबसे ज्यादा है।
  • शिक्षा के क्षेत्र में हुए कार्य
  •  सरकारी स्कूलों को विश्वस्तरीय ढांचा उपलब्ध कराया।
  • 20 हजार नए क्लासरूम सरकारी स्कूलों में बनाए गए।
  •  हैप्पीनेस और माइंडफुलनेस क्लास की शुरुआत की गई।
  •  बच्चों में देशभक्ति की भावना जागृत करने के लिए देशभक्ति पाठ्यक्रम शुरू किया
  • उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए एंटरप्रेन्योरशिप पाठ्यक्रम और बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम शुरू किए गए।
  • दिल्ली स्कूल शिक्षा बोर्ड का गठन कर इंटरनेशनल शिक्षा बोर्ड से समझौता किया।
  •  खेल विश्वविद्यालय स्थापित करने वाला दिल्ली देश का इकलौता राज्य है।
  • 99.7 प्रतिशत रहा इस बार 12वीं का परिणाम, जो प्राइवेट स्कूलों से कहीं अधिक है।
  •  2021 में सरकारी स्कूलों के 64 छात्रों ने जेईई एडवांस और 496 ने नीट क्वालीफाई किया।
  • ’ढाई लाख बच्चों ने प्राइवेट स्कूलों से नाम कटवाकर सरकारी स्कूलों में एडमिशन लिया।

अब लोग सुरक्षित और महिलाएं मुफ्त कर रहीं बसों में यात्रा

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2015 में बस बेड़े में 5659 डीटीसी और क्लस्टर बसें थीं, जो अब बढ़कर 6900 हो गई हैं। ई-बसों सहित 2930 बसों को बेड़े में जोड़ा जाना है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए बस में मार्शल हैं और महिलाओं का सफर मुफ्त है। इसके अलावा दिल्ली में देश की सबसे प्रगतिशील ईवी नीति लाई गई है। दिल्ली में ईवी वाहनों के लिए 169 सार्वजनिक चार्जिग स्टेशनों में 377 चाजिर्ंग प्वाइंट हैं। अगस्त 2021 में दिल्ली में परिवहन संबंधी सेवाओं को आनलाइन भी किया गया है। मुख्यमंत्री का दावा है कि लोगों की सुरक्षा के मद्देनजर सीसीटीवी कैमरे लगाने के मामले में आज दिल्ली लंदन, वाशिंगटन व पेरिस जैसे शहरों को पीछे छोड़ते हुए दुनिया का नंबर वन शहर बन गया है।

शहीद-ए-आजम भगत सिंह और बाबा साहब डा. आंबेडकर के बताए रास्ते पर चलकर दिल्ली सरकार ने पिछले सात वर्ष में विकास के लिए कई अहम कदम उठाए। आजादी के 75 साल बाद ही सही, हर एक बच्चे को समान व अच्छी से अच्छी शिक्षा देने का बाबा साहब का सपना दिल्ली में पूरा हो रहा है। शिक्षा में किए क्रांतिकारी बदलाव की चर्चा देश-विदेश में हो रही है। देश में दिल्ली की एकमात्र ऐसी सरकार है, जो जनता की राय लेकर अपनी नीतियां बनाती है। दिल्ली को को दुनिया की सबसे बेहतरीन राजधानी बनाना है और यमुना को सफाई को लेकर भी योजना तैयार है।

  • दिल्लीवालों को दी जा रही निश्शुल्क बिजली
  • मुख्यमंत्री तीर्थ यात्र योजना शुरू की है, इसके तहत बुजुर्गो को तीर्थ स्थलों की निश्शुल्क यात्र कराई जाती है
  •  31 बलिदानियों और कोरोना योद्धाओं के परिवार को एक-एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि दी गई
  • उन्होंने दावा किया कि दिल्ली में देश के बड़े शहरों में सबसे कम बिजली की दरें हैं और प्रतिमाह 200 यूनिट तक बिजली मुफ्त दी जाती है। 2021 में दिल्ली के 30.8 लाख उपभोक्ताओं का हर महीने बिजली का बिल शून्य आया है।

प्रदूषण में आई है कमी, यमुना करेंगे साफ

केजरीवाल ने दावा किया कि 2012-14 की तुलना में 2016-18 में दिल्ली के प्रदूषण स्तर में करीब 25 प्रतिशत की कमी आई है। पहले 20-40 दिनों तक दिल्ली प्रदूषण की मार ङोला करती थी, जो स्थिति अब घटकर 15 दिन से भी कम रह गई है। 2025 तक यमुना का प्रदूषण खत्म करने का लक्ष्य रखा है और हम यह लक्ष्य हासिल कर लेंगे।

Edited By: Pradeep Chauhan