नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली महिला आयोग ने साइबर क्राइम सेल, दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। क्लब हाउस' नामक ऐप पर महिलाओं के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए कुछ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है। फिलहाल, इस मामले में आयोग ने साइबर क्राइम सेल से 24 जनवरी तक जवाब मांगा है।

दरअसल, बुल्ली बाई ऐप के मामले में गिरफ्तार मुख्य आरोपित नीरज बिश्नोई दिल्ली पुलिस की पूछताछ में कई अहम खुलासे कर चुका है। जांच अधिकारियों की मानें तो पूछताछ में नीरज ने कई अहम खुलासे किए हैं। उसने यह भी बताया है कि वो सुल्ली डील्स केस के दौरान एक ट्विटर हैंडल बनाया था, जिसके जरिए वो सुल्ली डील्स को बनाने वाले से मिली जानकारी का इस्तेमाल करता था। 

पूछताछ में नीरज विश्नोई ने यह भी बताया है कि एक जापानी गेमिंग किरदार के नाम पर पांच ट्विटर अकाउंट बनाए थे। इन सभी अकाउंट को वह खुद इस्तेमाल कर रहा था। एक अकाउंट पर पहले भी मामला दर्ज किया था। इस अकाउंट से एक महिला के खिलाफ ट्विटर से अश्लील टिप्पणी की गई थी। गौरतलब है कि एक पीड़ित महिला की शिकायत पर दिल्ली के किशनगढ़ थाने में एफआइआर भी दर्ज हुई थी।

आरोपित ने एक शिकायतकर्ता की तस्वीर को ट्वीट कर उसकी नीलामी की बात लिखी थी। इसके अलावा पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपित ने एक अकाउंट तीन जनवरी को बनाया था। इसके जरिये वह मुंबई पुलिस द्वारा की जा रही गिरफ्तारी पर टिप्पणी कर रहा था और मुंबई पुलिस को अपनी गिरफ्तारी के लिए चुनौती भी दे रहा था।

इससे पहले दिल्ली महिला आयोग ने को लोकल सर्च इंजन को नोटिस जारी किया है। आयोग के मुताबिक इसके द्वारा स्पा (SPA) के नाम पर देह व्यापार को बढ़ावा दिया जा रहा है। आयोग का दावा है कि जांच में उसे देह व्यापार से जुड़े सुबूत भी मिले हैं। इसे लेकर आयोग ने लोकल सर्च इंजन के प्रबंधन को तलब किया है। इसके साथ ही दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को भी मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई करने के लिए नोटिस जारी किया था। 

24 घंटों के भीतर ही जस्ट डायल द्वारा 15 से अधिक काल और 32 वाट्सएप प्राप्त हुए, जिसमें 150 से अधिक युवतियों की तस्वीरें एवं सर्विस रेट बताए गए थे और एक नंबर से 14 युवतियों ने तस्वीरें साझा की थी।

Edited By: Pradeep Chauhan