नई दिल्ली [निहाल सिंह]। जिस लुटियंस दिल्ली को हरा भरा और स्वच्छ रखने में कर्मी दिन-रात मेहनत में लगे रहते हैं वह कर्मी गणतंत्र दिवस की परेड देखने से अछूते रह जाते थे। गणतंत्र दिवस है तो क्षेत्र को एक सप्ताह पहले से ही विशेष तौर पर साफ रखा जाता है। इससे उनकी ड्यूटी और सख्त हो जाती है। इसलिए वह आज तक परेड देखने नहीं जा पाए, लेकिन यह पहला मौका था जब कर्मी विशेष अतिथि बने बल्कि राजपथ की परेड का गवाह बने। नई दिल्ली नगर पालिका परिषद (एनडीएमसी) सौ सफाई कर्मियों को विशेष आमंत्रण मिला था। जिससे वह राजपथ की परेड देख पाए।

100 सफाई कर्मचारियों को मिला था केंद्र सरकार की ओर से विशेष आमंत्रण

मनीष जिनकी ड्यूटी मालचा मार्ग पर हैं। उन्होंने कहा कि वह जीवन में पहली बार राजपथ पर परेड़ देख पाएं है। इससे पहले मौका नहीं मिला की राजपथ पर जाकर परेड देख पाए। हमें गर्व हुआ कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सफाई कर्मचारियों की इतनी चिंता करते हैं। ऐसे में हम लोग किसी वीआइपी की तरह परेड देखने गए क्योंकि हमें इसका पास मिला था। परेड देखकर बहुत ही अच्छा लगा।

पिताजी के साथ साईकिल पर आते थे परेड देखने

हनुमान मंदिर पर तैनात सफाई कर्मी संजय बताते हैं कि बचपन में पिताजी साईकिल पर परेड दिखाने ले जाते थे, लेकिन, राजपथ पर परेड देखने का मौका तो बचपन में भी नहीं मिला था। पहले कस्तूरबा गांधी मार्ग से होते हुए परेड निकलती थी तो वहीं पर सड़क किनारे खड़े होकर देख लेते थे, लेकिन इस बार हमें जब पास मिला तो खुशी का ठिकाना नहीं था। परिवार के लोग भी खुश थे। चूंकि पहली बार राजपथ पर परेड देखने का मौका मिला है तो यह हमारे लिए गर्व की बात थी। इसलिए सुबह चार बजे ही वह घर से परेड देखने के लिए निकल गए थे।

पहले टीवी पर देखते थे आज पहली बार देखे

गोल मार्केट में सफाई कार्य के लिए तैनात सुनील बताते हैं कि इससे पहले हम टीवी पर परेड देखते थे, पहली बार राजपथ पर परेड देखने का मौका मिला। इसके लिए हम प्रधानमंत्री जी का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमारे बारे में सोचा।

सफाई हीनता का नहीं गर्व का विषय 

एनडीएमसी के सभी सफाई कर्मियों की ओर से मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का धन्यवाद करना चाहूंगा कि वह एनडीएमसी की रीढ़ की हड्डी तरह काम करने वाले सफाई कर्मचारियों का ध्यान रखते हैं। स्वच्छता मिशन के बाद सफाई कर्मियों का सम्मान बढ़ा है। अब सफाई हीनता का नहीं बल्कि गर्व का विषय बन गया है।

सतीश उपाध्याय, उपाध्यक्ष, नई दिल्ली नगर पालिका परिषद

Edited By: Prateek Kumar