नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। 74th Independence Day: कोरोना वायरस संक्रमण के चलते स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम इस बार छत्रसाल स्टेडियम के बजाय आइटीओ स्थित दिल्ली सचिवालय में आयोजित किया गया। कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार सुबह ध्वजारोहण किया। इसके बाद अपने संबोधन में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज का दिन उन लोगों को याद करने का भी है, जिन्होंने पिछले 73 वर्षों में सीमा पर बलिदान दिया, ताकि देश को स्वतंत्र और सुरक्षित रखा जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि हमारे 20 जवानों ने भारत-चीन सीमा पर अपनी कुर्बानी दी है।

इस मौके पर अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा कि दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण काफी हद तक काबू में है और इसके लिए दिल्ली के लोग बधाई के पात्र हैं। कुछ सप्ताह के दौरान दिल्ली में कोरोना की रोकथाम के लिए शानदार काम हुआ है। 

इस मौके पर शहीदों को याद करने के साथ ही कोरोना योद्धाओं को सम्मानित भी किया गया। इसमें डॉक्टर, नर्स, एंबुलेंस चालक, सफाई कर्मचारी, पुलिस, प्लाज्मा दान करने वाले लोग, सेंट्रल जेल के उत्कृष्ट काम करने वाले अधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए। कोरोना संक्रमण के चलते शारीरिक दूरी का पालन करते हए कार्यक्रम में सीमिति लोगों की उपस्थिति रही।

कोरोना वायरस संक्रमण के चलते सीमित संख्या में ही मेहमान इस आयोजन में शिरकत कर सकेंगे। ऐसे में कार्यक्रम को ऑनलाइन लाइव देखने की व्यवस्था भी की गई है। एक खास बात और है कि इस बार सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

जागरण संवाददातात के अनुसार, कार्यक्रम में दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश, दिल्ली सरकार के सभी मंत्री, विधायक, लोकसभा और राज्यसभा सदस्य, तीनों नगर निगमों के मेयर समेत वरिष्ठ आइएएस व दानिक्स अधिकारियों को आमंत्रित किया गया है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस