नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Chief Minister of Delhi Arvind Kejriwal) ने पश्चिमी दिल्ली के द्वारका सेक्टर-22 स्थित डिपो से क्लस्टर बसों के बेड़े में 104 बसों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान उन्होंने बताया कि आने वाले छह माह के भीतर 3000 नई बसों को दिल्ली की सड़कों पर उतार दिया जाएगा। इस मौके पर दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार के एक हजार बसों की खेप की सभी बसें नवंबर से फरवरी 2020 के बीच दिल्ली की सड़कों पर होंगी।

ये बसें रानीखेड़ा, रेवला खानपुर, खड़खड़ी नाहर और बवाना डिपो से संचालित होंगी। इन बसों को मेट्रो स्टेशन, बस अड्डे, कश्मीरी गेट, आनंद विहार और सराय काले खां मार्ग जैसे अतिरिक्त रूटों पर भी चलाया जाएगा। इसके अलावा दिसंबर माह से हर माह लो फ्लोर एयरकंडीशन बसें मिलनी शुरू हो जाएंगी। अप्रैल तक लो फ्लोर की 400 बसें सड़कों पर उतार दी जाएंगी। इन बसों के लिए घुम्मनहेड़ा, दौराला, रोहिणी और बवाना सेक्टर पांच में डिपो बनाया जाना है।

कैलाश गहलोत ने कहा कि इन बसों के अलावा डीटीसी की एक हजार लो फ्लोर की एयरकंडीशन और तीन सौ इलेक्ट्रिक बसें को उतारने के लिए टेंडर जारी कर दिया गया है। आनेवाले दिनों में ये बसें भी दिल्ली की सड़कों पर होंगी। इस मौके पर मटियाला के विधायक गुलाब सिंह यादव व स्थानीय निगम पार्षद रमेश मटियाला, परिवहन विभाग के विशेष आयुक्त केके दहिया और डिम्टस के पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

इलेक्टिक बसों के लिए टेंडर जारी

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आज 104 नई बसों को रवाना किया। सीसीटीवी कैमरों से लैस, पैनिक बटन व दिव्यांगजनों के लिए बसों में हाइड्रोलिक लिफ्ट है। दिल्ली में बस की खरीद में कुछ वषों की देरी हुई थी, लेकिन अच्छी खबर यह है कि हजारों बसों की डिलीवरी ने रफ्तार पकड़ ली है। डीटीसी 300 इलेक्टिक बसों की खरीद के लिए टेंडर जारी कर चुका है। ये बसें 1,000 क्लस्टर ई-बसों के अलावा होंगी, जिन्हें पहले से ही मौजूदा बेड़े में जोड़ा जाना तय है।

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: JP Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप