नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बीते 15 जनवरी को जामिया नगर में हिंसक उपद्रव के मामले में क्राइम ब्रांच के विशेष जांच दल (एसआइटी) ने शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व विधायक आसिफ मोहम्मद खान, स्थानीय नेता आशु खान व जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्र चंदन कुमार से सात घंटे तक पूछताछ की।

इस मामले में पुलिस ने गुरुवार देर रात जामिया नगर इलाके से मोहम्मद फुरकान को गिरफ्तार किया गया। छह घंटे तक पूछताछ के बाद एसआइटी ने शुक्रवार को उसे साकेत कोर्ट में पेश किया, जहां से तीन दिन के लिए तिहाड़ जेल भेज दिया गया।

15 जनवरी को जामिया व न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में बसों में आग लगा दी गई थी। पथराव में 30 पुलिसकर्मी व 39 प्रदर्शनकारी घायल हो गए थे। जामिया नगर थाना पुलिस ने दो और न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी थाना पुलिस ने एक एफआइआर दर्ज की थी। तीनों मामले को अगले ही दिन क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर कर दिया गया था। अब तक 17 आरोपितों को गिरफ्तार कर तिहाड़ भेजा जा चुका है।

बता दें कि जामिया हिंसा मामले में पुलिस ने कई लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था। इनमें कांग्रेस नेता आसिफ मोहम्मद खान का भी नाम शामिल है। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान जामिया में हिंसा हुई थी। उपद्रवियों ने कई बसों और निजी वाहनों को आग के हवाले कर दिया था। पुलिस पर पथराव भी किया गया था। 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस